MP News : थाने में पति-पत्नी ने समझौता किया तो पुलिस ने बेरहमी से पीटा

Share

थाना प्रभारी पर गंभीर आरोप, एसपी ने बिठाई जांच

Dindori Bajag Thana
एसपी ऑफिस में शिकायत करके लौटते दंपत्ति

डिंडौरी। (Dindori) जिले के बजाग थाना पुलिस (Bajag Thana) को पति-पत्नी का समझौता करना नागवार गुजरा। थाने में समझौता कर शिकायत वापस लेने की बात पर थाना प्रभारी अनुराग जामदार (SI Anurag Jamdar) भड़क गए। जिसके बाद दंपत्ति की पिटाई की गई। पति को मार-मारकर नीला कर दिया गया। पीड़ित दंपत्ति ने एसपी डिंडौरी संजय सिंह (SP Sanjay Singh) से मामले की शिकायत की है। जिसके बाद एसपी ने मामले की जांच एसडीओपी रवि प्रकाश (SDOP Ravi Prakash) को सौंप दी है।

थाने में भी हुआ था विवाद

मामला बुधवार का है, जब बिजौरा गांव में रहने वाले दंपत्ति अश्विनी खैरवार और वर्षा खैरवार एक-दूसरे की शिकायत लेकर बजाग थाने पहुंचे थे। थाना प्रभारी अनुराग जामदार को दोनों ने अपनी परेशानी बताई। इस दौरान थाने में ही दोनों का विवाद भी हुआ। लेकिन कुछ देर बाद पति-पत्नी में समझौता हो गया। दोनों एक-दूसरे के खिलाफ की गई शिकायत वापस लेने की बात कहकर घर जाने लगे। लेकिन ये बात पुलिस को नागवार गुजरी। दंपत्ति का आरोप है कि थाना प्रभारी जामदार ने उनकी पिटाई की।

महिला से भी मारपीट

Dindori Bjag Thana
चोट के निशान

पीड़िता वर्षा खैरवार के मुताबिक थाना प्रभारी जामदार और एएसआई परस्ते ने उसके पति अश्विनी की जमकर पिटाई की। जिसके बाद वो उसे डिंडौरी ले गए। वर्षा का कहना है कि उसने अश्विनी की डिंडौरी जाकर जमानत कराई है। जिसके बाद गुरुवार को एसपी से मामले की शिकायत की है।

शिकायती पत्र

Dindori Bajag Thana
अनुराग जामदार, थाना प्रभारी

महोदय जी,

‘सनम्र निवेदन है कि मैं आवेदिका वर्षा खैरवार पति अश्वनी खैरवार जाति पनिका उम्र 22 वर्ष निवासी ग्राम बिजौरा थाना बजाग तहसील बजाग जिला डिंडौरी (मप्र) की स्थानीय निवासी हूँ। यह कि कल दिनांक 16/09/2020 को मेरे एवं मेरे पति का आपस में थोड़ा वाद-विवाद हो गया था। गुस्से में हम दोनों स्वयं थाना बजाग शिकायत करने पहुंचे थे। थाना बजाग के प्रभारी के सामने भी हमारा मामूली वाद-विवाद होता रहा, जिसके बाद परिजनों के समझाने पर हम बिना कोई आवेदन दिए वापस जाने लगे।’

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: गर्लफ्रेंड को पति के साथ देखकर भड़की पत्नी को रेस्टोरेंट में पीटा

यह भी पढ़ेंः चंबल नदी में पलटी नाव, 11 की मौत, देखें हादसे का वीडियो

‘इसके बाद थाना प्रभारी अनुराग जामदार ने हम दोनों को गाली देते हुए चू@#$ हूँ, चप@# हूँ तुम्हारा @#$%&, जब चाहे शिकायत कराओगे, जब चाहे वापस जाओगे कहकर चिल्लाने लगे। मेरे पति को मां-बहन की गाली देने लगे। मेरे पति द्वारा यह कहने पर कि मेरे अम्मा-बाबू को गाली मत दो, सुनकर एक एएसआई और थाना प्रभारी मेरे पति को बुरी तरह मारने-पीटने लगे। नीले कलर की पाइप वाले डंडे से बुरी तरह मारते देख मैं बचाने गई तो मुझे भी अनुराग जामदार ने पीठ पर एक झापड़ मारके धक्का देकर महिला पुलिस के कमरे में बंद कर दिया। तब मेरे पास एक फोन उपलब्ध था, जिससे मैंने सास-ससुर को फोन कर घटना के बारे में बता रही थी कि अचानक पुलिस ने फोन छुड़ा लिया और फिर एएसआई परस्ते ने मुझसे बिना पूछताछ किये एक आवेदन बनाकर जबरन हस्ताक्षर आदि कराकर जिंदगीभर जेल में सड़ा देंगे की धमकी दी। ‘

‘इतने में मेरे सास एवं ससुर आए तो उन्हे अंदर आने से मना कर दिया गया। जबरन जैसे-तैसे घुसने पर उनके साथ भी गाली-गलौच करने लगे और मां-बहन की गाली देते हुए मेरे पति को हथकड़ी लगाकर डिंडौरी ले गए। जहां से जमानत पर आकर हम आपके पास शिकायत लेकर आए हैं। कृपया इस आवेदन पत्र के आधार पर कड़ी से कड़ी कार्यवाही करने का कष्ट करें।’

Don`t copy text!