Bhopal Suspicious Death: बुखार का पता चला, पीएम करने से डॉक्टरों ने किया इंकार

Share

Bhopal Suspicious Death: शव को मर्चुरी रूम में रखवाया, व्यक्ति समेत अन्य चार लोगों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत

Bhopal Suspicious Death
सांकेतिक चित्र

भोपाल। बीमार व्यक्ति की अचानक तबीयत बिगड़ी फिर उसकी मौत (Bhopal Suspicious Death) हो गई। शव पीएम के लिए पीएम अस्पताल पहुंचाया गया तो डॉक्टरों ने उसको छूने से इंकार कर दिया। उनका कहना था कि व्यक्ति की मौत बुखार से हुई है इसलिए पहले कोरोना टेस्ट (Bhopal Corona Tension) होगा। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। शव को सुरक्षित मर्चुरी रूम में रखवा दिया गया है। इधर, तीन अन्य व्यक्तियों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत (Bhopal Suspected Death Case) हो गई है। पुलिस ने सभी मामलों में मर्ग कायम कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिए हैं।

परिजनों में भय का माहौल

एमपी नगर थाना पुलिस ने बताया कि लालाराम सेन (Lalaram Sen) पिता जगन्नाथ सेन उम्र 50 साल निवासी अर्जुन नगर में रहता था। लालाराम नाई का काम करता था। बुखार होने पर परिजन उसे गुरूवार रात आठ बजे जेपी अस्पताल (Bhopal JP Hospital) लेकर पहुंचे थे। डॉक्टरों ने उसकी कोरोना टेस्ट का सेंपल लेकर जांच के लिए भेजा था। रात करीब 11 बजे डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। यह जानकारी परिजनों को भी लगी। जिसके बाद परिवार के लोग कोरोना को लेकर भयभीत है। वहीं आस—पास के लोग भी परिवार से किनारा कर चुका है।

आज होगा पीएम पर निर्णय

मामले की जांच कर रहे अधिकारी एसआई विमल शुक्ला ने बताया कि कोरोना रिपोर्ट मिलने के बाद ही प्रशासन पीएम का फैसला लेगा। उससे पहले चिकित्सकों ने शव को पीएम करने से इंकार कर दिया है। शुक्रवार को पीएम नहीं हो सका था। शव को सुरक्षित मर्चूरी रूम में रख दिया गया है। इस मामले में शनिवार को निर्णय लिया जाएगा।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: कभी इशारों में नचाता था अब इशारों में नाच रहा

फोन करके मायके से बुलाया

निशातपुरा थाना पुलिस ने बताया कि अरूण यादव (Arun Yadav) पिता स्वर्गीय लक्ष्मीनारायण उम्र 30 साल निवासी निशातपुरा कॉलोनी में रहता था। अरूण के पिता भोपाल मेमोरियल अस्पाल में नौकरी करते थे। कुछ साल पहले उसकी मौत हो गई थी। अरूण भी अस्पताल में अटेंडर की नौकरी करता है। सुबह आठ से रात में 10 बजे तक उसके घर आने के बाद मां अस्पताल में नाईट ड्यूटी करती है। गुरूवार रात अरूण काम से घर लौटा था। आने के बाद वह खाना खा रहा था। अचानक उसे उल्टियां होने लगी थी। तबीयत बिगड़ने पर पत्नी पूजा ने मायके जो पूजा कॉलोनी में है फोन किया था।

यह भी पढ़ें: व्हाट्स एप्प पर वीडियो कॉल करके दिया था तलाक, मुख्यमंत्री ने मामले को संज्ञान में लिया

मायके वाले लेकर पहुंचे

पूजा (PujaYadav) ने बताया उसके फोन पर भाई और मायके के बाकी लोग उसे भोपाल मेमोरियल अस्पताल लेकर पहुंचे थे। गुरूवार—शुक्रवार की दरमियानी रात डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। डॉक्टरों को उसके शरीर में सल्फास (Bhopal Suspicious Poison Case) मिला है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई पुलिस करेगी। इधर, दिलीप वर्मा (Dilip Verma) पिता ओमकार उम्र 55 साल निवासी टीआईटी गोविंदपुरा की मौत हो गई। परिजन उसे अस्पताल लेकर पहुंचे थे। उधर, ईटखेड़ी थाना पुलिस ने बालकिशन (Balkishan) पिता खुशीलाल उम्र 70 साल निवासी करेरा की मौत हो गई। वह गुरूवार सुबह 11 बजे चमारी नदी में डूब गया था।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!