Bhopal News: एलएनसीटी छात्र की मौत से पहले जल गई सस्पेंस वाली डायरी

Share

Bhopal News: हेल्थ डिपार्टमेंट में तैनात पिता भेजते थे महीने में पांच हजार रूपए, छात्र खर्च करता था बीस हजार, दोस्तों को बताई थी नई जिदंगी के शुरूआत की स्टोरी

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

भोपाल। दिमाग बहुत कुछ सोच रहा होता है। यदि वह दूसरे से साझा नहीं करेंगे तो वह संकुचित हो जाता है। आपको यकीन नहीं होगा लेकिन, यह घटना सच है। मामला भोपाल (Bhopal News) शहर के पिपलानी थाना क्षेत्र का है। घटना एलएनसीटी छात्र की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत से जुड़ी है। जिसके कई सबूत रहस्यमय तरीके से मिटा दिए गए हैं। इसमें छात्र की डायरी शामिल है। वह जल गई जिसको लेकर उसने अपने दोस्तों को भी कहानी बताई। अब पुलिस के सामने उसको नए सिरे से बनाने और मोबाइल के डाटा को रिकवर करने की चुनौती है। पुलिस को इस बात का अहसास है कि छात्र किसी गहरी बात को जानता था। जिस कारण उसने आत्महत्या जैसे संगीन कदम को उठाया है।

दोस्तों से रकम ली थी उधार

पिपलानी थाना पुलिस के अनुसार 15 नवंबर की रात लगभग साढ़े नौ बजे एम्स अस्पताल (AIIMS Hospital) से डॉक्टर कुनाल ने एक युवक के मौत की सूचना दी थी। शव की पहचान जय प्रकाश अहिरवार पिता मथुरालाल अहिरवार उम्र 19 साल के रूप में हुई है। जयप्रकाश अहिरवार (Jaiprakash Ahirwar) मूलत: देवास का रहने वाला था। उसके पिता मथुरा लाल अहिरवार (Matura Lal Ahirwar) देवास के स्वास्थय विभाग में कर्मचारी है। जय प्रकाश अहिरवार भोपाल में स्थित एलएनसीटी कॉलेज (LNCT College) का छात्र था। वह उसके दोस्तों के साथ  पिपलानी थाना स्थित दीप मोहिनी अपार्टमेंट में किराए के कमरे में रहता था। सूत्रों के अनुसार जय प्रकाश अहिरवार ने करीब एक साल पहले पढ़ाई छोड़ दी थी। इसकी जानकारी उसके परिजनों को नहीं थी। वह परिवार से कॉलेज की फीस और खर्च के पैसे लेता था। पुलिस को प्राथमिक जांच में दोस्तों से पता चला है कि वह घर से पैसे लेने के साथ दोस्तों से पैसे उधार लिया करता था।

इसलिए कहानी में कई तरह के पेंच

वह उधार लेकर उसे चुका नहीं पाता था। जय प्रकाश अहिरवार को डायरी लिखना पसंद था। उसने कई डायरियां लिखी थी। घटना (Bhopal News) से पहले उसने सारी डायरी फाड़कर जला दी थी। दोस्तों ने इसकी वजह पूछी तो कहने लगा की नए सिरे से वह जिंदगी शुरू करेगा। ऐसा ही कुछ उसने फोन के साथ भी किया था। उसने अपने फोन को फेंककर दीवार में मारा। जिससे वह टूट गया, दोस्तों से कहा कि जन्मदिन पर पापा मुझे आईफोन दिला रहे हैं। इसलिए मैं पुराने फोन को तोड़कर फेंक रहा हूं। जिसके कुछ समय बाद उसने कमरे में खुद को बंद करके फांसी लगाई थी। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को पीएम के लिए एम्स अस्पताल पहुंचा दिया। पिपलानी पुलिस मर्ग 58/22 दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है। जनहित में संदेश: आत्महत्या के विचार आना मानसिक अवसाद की निशानी है। यदि यह अहसास हो तो 18005990019 पर संपर्क करें। यहां चौबीस घंटे मनोचिकित्सक निशुल्क सलाह देने के लिए उपलब्ध रहते हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   PHQ Order: एसपी बिना अनुमति नहीं हटा सकते टीआई
Don`t copy text!