MP Police Gossip: टीआई को रसूख दिखाना महंगा पड़ा

Share

MP Police Gossip: पुलिस मुख्यालय ने तलब की रिपोर्ट, नौकरी जाना तय

MP Police Gossip
सांकेतिक चित्र

भोपाल। राजनीतिक रसूख से घिरे निरीक्षक एसके शुक्ला को अपने विभाग से बगावत करना महंगा (MP Police Gossip) पड़ गया। उनके खिलाफ पूरा मामला तब पुलिस मुख्यालय पहुंचा जब निरीक्षक के समर्थन में भाजपा के विधायक मुखर होकर पुलिस अधीक्षक से भिड़ गए। इस दंगल में एसपी का तो तबादला हुआ लेकिन, निरीक्षक की नौकरी पर बन आई है। खबर है कि निरीक्षक के पूरे सर्विस रिकॉर्ड को मुख्यालय ने तलब कर लिया है। इसमें से तीन जांच में निरीक्षक बुरी तरह से फंसे हुए हैं। बताया जा रहा है कि निरीक्षक को इन्हीं जांच में अपनी नौकरी से हाथ धोना पड़ सकता है।

पॉक्सो के मामले में नपे टीआई

शहडोल जिले के एक थाने के टीआई और हवलदार को निलंबित कर दिया गया। दरअसल, पॉक्सो एक्ट के एक मामले में सही तरीके से जांच नहीं करने के आरोप उन पर लगे थे। लेकिन, खबर है कि टीआई से एक राजनेता खासे नाराज चल रहे थे। नेता ने चौथे स्तम्भ की मदद से उनके कई छुपे किस्सों को बेनकाब करने का अभियान छेड़ रखा था। इस कारण जिले की पुलिस को बदनामी झेलना पड़ रही थी।

जांच टीआई ने अपने पास रखी

पॉक्सो का ही एक मामला बैरसिया इलाके का है। इस मामले की जांच के लिए कोई अधिकारी नियुक्त नहीं किया गया है। केस डायरी प्रभारी के पास ही है। इसी तरह महिला अपराध का एक अन्य मुकदमा भी प्रभारी ने अपने पास रखा है। दरअसल, मुख्यालय के आदेश हैं कि महिला संंबंधी अपराध की जांच महिला अधिकारी ही करेगी। यदि वह नहीं है तो प्रभारी एसपी से अनुमति लेगा। इसी अनुमति के फेर में ऐसे ही दर्जनों मामले शहर के कई टीआई के पास लटके हुए हैं।

यह भी पढ़ें:   भोपाल ने सबसे ज्यादा बरामद की रकम

थाने का गुप्त अनुष्ठान

राजधानी का एक थाना काफी खतरनाक कहा जाता है। यहां जो प्रभारी आया है वह विवादों में रहते हुए रवाना हुआ है। इसलिए पहले के कई थाना प्रभारी टोटके करते रहे। कोई आया तो उसने कुर्सी की दिशा बदली। किसी ने आने के पहले कांच देखने का इंतजाम किया। अब यहां थाने में गुप्त टोटका किया जा रहा है। थाने में ही एक गुप्त जगह भगवान की मूर्ति रखी गई है। यहां हर मंगलवार—शनिवार अनुष्ठान किया जाता है। ताकि प्रभारी और कुर्सी सही तरीके से बनी रहे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!