शिवराज सरकार ने माना, कमलनाथ ने 26 लाख किसानों का कर्ज माफ किया था

Share

विधानसभा में कृषि मंत्री कमल पटेल ने दिया जवाब

Kisan Karjmafi
शिवराज सिंह चौहान, मुख्यमंत्री, फाइल फोटो

भोपाल। किसान कर्जमाफी (Kisan Karjmafi) को लेकर किए जाने वाले कांग्रेस के दावे पर शिवराज सरकार (Shivraj Govt) ने मुहर लगा दी है। विधानसभा में पूछे गए सवाल का जवाब देते हुए शिवराज सरकार ने माना है कि कमलनाथ सरकार (Kamalnath Govt) ने किसानों का कर्ज माफ किया था। दो चरणों में करीब 27 लाख किसानों की कर्जमाफी की गई थी। बता दें कि पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ इस दावे को बार-बार दोहराते रहे है। वहीं भाजपा इसे खारिज करती रही है। लेकिन कृषि मंत्री कमल पटेल की तरफ से पेश किए गए जवाब में साफ हो गया है कि कर्जमाफी हुई थी। कमलनाथ सरकार कर्जमाफी के तीसरे चरण की भी शुरुआत कर रही थी।

पूर्व गृह मंत्री ने पूछा था सवाल

Kisan Karjmafi
बाला बच्चन, पूर्व गृह मंत्री

पूर्व गृह मंत्री और कांग्रेस विधायक बाला बच्चन ने कृषि मंत्री से सवाल पूछा था कि जय किसान फसल ऋण योजना के तहत कितने किसानों का कर्ज माफ हुआ है। द्वितीय चरण में कितने किसानों का एक लाख रुपए तक का कर्ज माफ किया गया और तीसरे चरण में दो लाख रुपए तक के कर्ज कब तक माफ कर दिए जाएंगे ?

कृषि मंत्री कमल पटेल ने दिया जवाब

MP Political News
कृषि मंत्री कमल पटेल

इसके जवाब में शिवराज सरकार ने बताया कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत 51 लाख 53 हजार 534 आवेदन किए गए थे। प्रथम चरण में 20 लाख 23 हजार 136 प्रकरणों राशि रुपए 710896.00 लाख रुपए स्वीकृत किए गए। दूसरे चरण में 6 लाख 72 हजार 245 प्रकरण की राशि रुपए 453802.00 लाख के स्वीकृत किए गए। यानि 26 लाख से ज्यादा किसानों का कर्ज माफ हुआ। इनमें सभी 51 जिलों के किसान सम्मिलित है। 5 लाख 90 हजार 848 प्रकरणों में 749225.00 लाख रुपए स्वीकृत किए जाने शेष है।

यह भी पढ़ें:   कर्जमाफी पर कांग्रेस ने पेश किए सबूत, किसानों को ले आए विधायक कुणाल चौधरी

सच सामने आ गया, सुने क्या कहा सचिन यादव ने..

कांग्रेस कार्यालय में पूर्व मंत्री सचिन यादव की प्रेस वार्ता

Gepostet von The Crime Info am Dienstag, 22. September 2020

इस मामले में पूर्व कृषि मंत्री सचिन यादव और कांग्रेस मीडिया सेल के उपाध्यक्ष भूपेंद्र गुप्ता ने प्रेस वार्ता की। कांग्रेस नेताओं ने कहा कि सच जनता के सामने आ गया है। विधानसभा में शिवराज सरकार ने सच स्वीकार कर लिया है। इससे पहले भी कांग्रेस, कर्जमाफी के प्रमाण दे चुकी है। हाल ही में कमलनाथ ने पत्रकारों को पेन ड्राइव वितरित की थी। जिसमें हितग्राही किसानों के नाम, पते और मोबाइल नंबर थे।

यह भी पढ़ेंः मध्यप्रदेश के कृषि मंत्री बोले- नेहरू ने गलती की जो उद्योग-धंधे लगाए

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!