Madhya Pradesh Appointment Scam: बीमॉक लेखापाल की नियुक्ति में घोटाला

Share

प्रतीक्षा सूची के बावजूद नए सिरे से परीक्षा लेने के लिए दिल्ली की कंपनी को दे दिया गया ठेका

Madhya Pradesh Appointment Scam
बीमॉक के कर्मचारी जिन्होंने सरकार पर प्रदर्शन करते हुए आरोप लगाया

भोपाल। (Bhopal News In Hindi) लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग (Public Health Family Welfare Department) के पांच कैडरों में हो रही नियुक्ति में घोटाले (Madhya Pradesh Appointment Scam) के आरोप लगे हैं। यह आरोप यहां तैनात वे कर्मचारी जिन्हें सरकार ने बेदखल कर दिया था उन्होंने लगाए हैं। इस बात को लेकर संगठन के बैनर तले शुक्रवार को भोपाल में प्रदर्शन भी किया गया। यह पूरा मामला कर्मचारी संगठन मुख्यमंत्री कमल नाथ (CM Kamal Nath) के सामने ला चुका है। इसके बावजूद चल रहे बंदरबाट को विभाग रोकने में कामयाब नहीं हो सका है।

यह जानकारी देते हुए सैयद ताजुद्दीन (Syyed Tajuddin) ने www.thecrimeinfo.com को बताया कि सरकार ने एनएचएम (NHM Staff) में तैनात लेखा कर्मचारियों को निकाल दिया है। यह कार्रवाई तत्कालीन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Former CM Shivraj Singh Chouhan) के कार्याकाल में हुई थी। ताजुद्दीन ने बताया कि विभाग के अधीन 17 कैडर के पद समाप्त किए गए थे। जिसको हाईकोर्ट में चुनौती दी गई थी। जिसके बाद सरकार ने कहा था कि वह निकाले गए कर्मचारियों की परीक्षा लेकर उन्हें प्रतीक्षा सूची में रखेगा। इसके बाद सरकार ने 12 कैडरों में 89 लोगों को सेवाओं में रख लिया। ऐसा करने के पहले विभाग ने परीक्षाएं ली थी। मैरिट के आधार पर 193 लोगों की सूची बनी थी। इसमें 104 लोगों की नियुक्ति होना अभी बाकी है।
यह भी पढ़ें: कलेक्टर कार्यालय के दो बाबू जो हथियारों के लायसेंस और कारतूस गोली—बिस्कुट की तरह लोगों को बांट रहे थे

यह भी पढ़ें:   Bhopal Murder Case: सिर कुचलकर महिला की निर्मम हत्या

ताजुद्दीन ने बताया कि अब विभाग ने 104 लोगों की मैरिट लिस्ट 136 लोगों के नाम जोड़ दिए हैं। जिन 32 नए लोगों के नाम जोड़े हैं वे कौन है यह पता नहीं हैं। अब विरोध किया जा रहा है उस फैसले पर जिसमें दिल्ली की कंपनी एसएएमएस कंपनी को परीक्षा कराने का ठेका देने का। ताजुद्दीन का दावा है कि ऐसा करके भ्रष्टाचार किया जा रहा है। संगठन के कर्मचारियों का दावा है कि ऐसा करके भ्रष्टाचार होने की पूरी संभावना है।

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!