Bhopal Suicide Case:  कर्ज और अंकों के बोझ में जानलेवा फैसला

Share

Bhopal Suicide Case: बेटे ने मम्मी—पापा को अंग्रेजी में लिखी भावुक चिट्ठी, शव पीएम के बाद परिजनों को सौंपे

Bhopal Suicide Case
सांकेतिक चित्र

भोपाल। कर्ज और अंकों को बोझ समझकर दो व्यक्तियों ने अपनी इहलीला (Bhopal Suicide Case) समाप्त कर ली। इसमें एक नाबालिग हैं तो दूसरा बालिग। दोनों घटनाएं मध्यप्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। पुलिस को एक घटना स्थल से सुसाइड नोट मिला है। यह सुसाइड नोट नाबालिग ने अपने पिता को लिखा है। पुलिस ने जांच के लिए उसको जब्त कर लिया है।

बैंक मैनेजर का बेटा

चूना भट्टी थाना पुलिस ने बताया अक्षत द्विवेदी (Akshat Diwedi) पिता दीपक उम्र 20 साल निवासी श्री कृष्ण सोसाइटी में रहता था। दीपक जहांगीराबाद इलाके में पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank) में मैनेजर है। उसके दो बच्चे है। बेटा अक्षत के अलावा बेटी है। बेटा सीबीएसई स्कूल से कक्षा बारहवीं के पेपर दिए थे। परीक्षा में उसे 78 प्रतिशत अंक मिले थे। उसका तीन मंजिला मकान है। वह तीसरी मंजिल पर आन लाइन पढ़ाई करता था।

परिजनों को लिखी चिठ्ठी

परिजनों ने बताया कि अक्षत घटना वाली सुबह रोजाना की तरह उपरी कमरे में पढ़ रहा था। पिता दफ्तर चले गए थे। घर में मां—बहन थी। उसकी मां सुबह 11 बजे उसे कमरे में चाय देने गई थी। कमरे का दरवाजा बंद था। मां ने आवाज देकर दरवाजा खोलने बोला था। काफी देर तक जब उसकी आवाज नहीं आई तो मां ने सेंटर लॉक की दूसरी चाबी लाकर उसको खोला। अंदर अक्षत पंखे से चादर का फंदा बनाकर लटका था। पुलिस को घटना स्थल से एक सुसाइड नोट (Bhopal Hanging Case) बरामद हुआ है।

यह भी पढ़ें:   37 हजार तनख्वाह, बेटा फिलीपींस से कर रहा डॉक्टरी

यह भी पढ़ें: इस जालसाज के झांसे में अफसर से लेकर नेता भी फंसे थे

कम प्रतिशत से था दुखी

पुलिस ने बताया अक्षत ने सुसाइड नोट अंग्रेजी में परिजनों को लिखा है। जिसमें उसने बोला है वह उसने परीक्षा में अच्छी अंक लाने की कोशिश की थी। लेकिन, वह उसके अनुरुप नहीं ला पाया हूं। इसी कारण वह आत्महत्या कर रहा है। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है। सुसाइड नोट के आधार पर वह आगे की जांच करेगी।

बीमारी के लिए लिया कर्जा

इधर, छोला मंदिर थाना पुलिस ने बताया कि शिवा जवारे (Shiva Jaware) पिता स्वर्गीय बेनी प्रसाद उम्र 28 साल निवासी नवजीवन कॉलोनी में रहता था। शिवा तीन भाई है। वह मजदूरी करता था। उसके दोनों भाई भी यही काम करते है। उसकी मां घरों में काम करती है। पिता की दिसंबर, 2019 में बीमारी की वजह से मौत हो गई थी। इसी बीमारी की वजह से उसने कई लोगों से कर्जा ले रखा था। कर्ज की बात से शिवा परेशान चल रहा था। मंगलवार दोपहर तीन बजे उसने घर में फांसी लगा ली थी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!