Bhopal Cheating Case: करोड़ों रुपए की हेरा—फेरी करने वाला जालसाज केपी सिंह गिरफ्तार

Share

Bhopal Cheating Case: सिद्धांता अस्पताल के डॉक्टर को ऑडी कार दिलाने का झांसा देकर ऐंठ ली थी रकम

Bhopal Cheating Case
गिरफ्तार जालसाज केपी सिंह

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) में रसूखदारों को सपने दिखाकर मोटी रकम ऐंठने वाले जालसाज (Bhopal Cheating Case) केपी सिंह को पुलिस ने दबोच लिया है। केपी सिंह (KP Singh) को पहले राजनीतिक संरक्षण मिला हुआ था। लेकिन, सरकार बदलते ही वह अर्श से फर्श पर आ गया। जालसाज ने बड़े कारोबारी के अलावा सिद्धांता अस्पताल के डॉक्टर को सुनहरे सपने (Bhopal Ka Natwarlal) दिखाकर मोटी रकम भी ऐंठ ​ली थी। इसी साल अलग—अलग थानों में जालसाज के खिलाफ गबन, धोखाधड़ी के मुकदमे (Bhopal Fraud Case) दर्ज हुए थे। इन मुकदमों में पुलिस को लंबे अरसे से उसकी तलाश थी।

दफ्तर बताकर देता था झांसा

मिसरोद पुलिस ने जालसाज केपी सिंह उर्फ कृष्ण पाल सिंह (Krishna Pal Singh) उम्र 57 साल को गिरफ्तार किया है। केपी सिंह ने कारोबारी सीई फर्नाडीस (CE Fernadize) को आ​शिमा मॉल के नजदीक बंगले को बिकवाने का सपना दिखाया था। अनुबंध 26 करोड़ रुपए में हुआ था। आरोपी ने सौदा करने के लिए ओम साई कंस्ट्रक्शन कंपनी (Fake Construction Company) का अपना दफ्तर भी बताया था। यह दफ्तर एमपी नगर में होने का दावा किया गया था। जब उसका भौतिक सत्यापन किया गया तो वह नहीं था। इस कारण मिसरोद पुलिस ने जालसाजी (Misrod Cheating Case) का मुकदमा दर्ज करके उसकी तलाश तेज कर दी थी।

डॉक्टर को महंगी कार के सपने दिखाए

सीई फर्नाडीस से पहले केपी सिंह ने सिद्धांता रेडक्रास अस्पताल (Sidhanta Redcross Hospital) में तैनात डॉक्टर निवेश सेहरा को धोखा दिया था। डॉक्टर निवेश सेहरा (Dr Nivesh Sehra) को केपी सिंह ने सेकंड हैंड लगजरी कार दिलाने का झांसा (Second Hand Audy Car) दिया था। इसके बदले में उसने खाते में 10 लाख रुपए की रकम भी ली थी। जब कार नहीं मिली तो वह डॉक्टर निवेश सेहरा को गुमराह करने लगा। जिसके बाद उन्होंने शाहपुरा थाने में जाकर मुकदमा (Shahpura Cheating Case) दर्ज कराया। पुलिस ने इस मामले में केपी सिंह के खिलाफ गबन और जालसाजी का केस दर्ज किया था।

यह भी पढ़ें:   ITBP जवान ने मध्यप्रदेश सरकार को धमकाया, न्याय करें, नहीं तो बन जाऊंगा पान सिंह तोमर

यह भी पढ़ें: प्रधानमंत्री के नारे लोकल के लिए वोकल पर शिवराज ने मास्टर स्ट्रोक मारकर कांग्रेस को ऐसे दी पटखनी

मवेशी कारोबारी को भी दिया धोखा

केपी सिंह मूलत: उत्तर प्रदेश (UP News) के हमीरपुर जिले में स्थित ललपुरा इलाके का रहने वाला है। फिलहाल केपी सिंह शाहपुरा स्थित आकृति इको सिटी में रह रहा है। केपी सिंह ने अशोका गार्डन स्थित मयूर विहार निवासी रफीक खान उर्फ कल्लू (Rafiq [email protected]) को भी झांसा दिया था। रफीक खान मवेशी कारोबारी है। उससे भी साढ़े तीन लाख रुपए की रकम सेकंड हेंड लग्जरी गाडी दिलाने (Bhopal Fake Auto Deal Case) के नाम पर ऐंठे गए थे। जिसमें इसी साल अशोका गार्डन थाना पुलिस ने जालसाजी (Ashoka Garden Cheating Case) का मुकदमा दर्ज किया था।

आदतन जालसाजी का पेशा

पुलिस ने बताया कि केपी सिंह आदतन जालसाजी का काम कर रहा है। वह कई रसूखदारों को झांसे में लेकर पैसा ऐंठा चुका है। केपी सिंह के खिलाफ कोलार थाने में जालसाजी (Kolar Cheating Case) के तीन मुकदमों के अलावा अलावा मारपीट, श्यामला हिल्स में मारपीट और एमपी नगर में अड़ीबाजी और मारपीट के तीन मुकदमे दर्ज है। केपी सिंह के खिलाफ सबसे पहले 2014 में मुकदमा दर्ज हुआ था। तत्कालीन भोपाल कलेक्टर तरुण पिथोड़े (Former Bhopal DM Tarun Pithhore) ने केपी सिंह को 2019 में जिलाबदर भी किया था। आईजी भोपाल रेंज और एडीजी उपेन्द्र जैन (ADG Upendra Jain) ने केपी सिंह को गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम को इनाम देने का भी ऐलान किया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!