PNB Cheating Case : बैंक के खजांची ने ग्राहकों की रकम से खरीद ली संपत्ति

Share

PNB Cheating Case : बैंक ने जांच के बाद सस्पेंड किया, ईओडब्ल्यू ने दर्ज किया गबन और जालसाजी का मामला

PNB Cheating Case
भोपाल स्थित आर्थिक प्रकोष्ठ विंग मुख्यालय

भोपाल। यदि आप बैंक में पैसा जमा कर रहे हैं तो यह समाचार (PNB Cheating Case) आपसे जुड़ा है। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) के उज्जैन (Ujjain Crime News) जिले में स्थित पंजाब नेशनल बैंक (PNB Fraud Case) की है। यहां बैंक में तैनात खंजाची (PNB Cashier Scam) ने ग्राहकों की जमा करीब साढ़े 36 लाख रुपए की रकम का गबन (Ujjain Bank Fraud Case) कर लिया। बैंक को जब तक भनक लगी त​ब तक उसने कई संपत्ति खरीद ली। पंजाब नेशनल बैंक ने खजांची को सस्पेंड करके पूरी रिपोर्ट ईओडब्ल्यू (MP EOW News) को सौंप दिया। ईओडब्ल्यू ने इस मामले में आरोपी के खिलाफ गबन और जालसाजी (MP Cheating Case) का प्रकरण दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश में पत्रकारों पर हमले के खिलाफ आक्रोश, थानों में बुरे हाल
आईडी से किया गलत इस्तेमाल

ईओडब्ल्यू के अनुसार घटना उज्जैन (Ujjain Crime News) स्थित बड़ नगर के पंजाब नेशनल बैंक (Punjab National Bank Braud Case) शाखा की है। यहां खजांची के पद पर आरोपी राजकुमार नरवरिया (Rajkumar Narvariya) पिता कैलाश नरवरिया तैनात था। आरोपी को बैंक की तरफ से आईडी दी गई थी। जिसका गलत इस्तेमाल करके आरोपी ने 36,51,450 रुपए निकाल लिए। यह रकम आरोपी ने जून से अगस्त, 2019 के बीच निकाली थी। मामले की पहले प्राथमिक जांच अजय कुमार राय (Ajay Kumar Rai) ने की थी। राय पंजाब नेशनल बैंक में प्रबंधक हैं। राय ने इस पूरी जांच रिपोर्ट बनाकर दी। जिसके बाद अगस्त, 2019 में राजकुमार नरवरिया (Rajkumar Narvariya Scam) को सस्पेंड कर दिया गया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: मीट कारोबारी ने मछली व्यापारी को पीटा

यह भी पढ़ें : मध्य प्रदेश की राजधानी में दो लोगों की हत्या हो जाती है और कोई सख्त एक्शन नहीं दिखता
इन लोगों की रकम हड़पी

जांच में पता चला कि राजकुमार नरवरिया (Rajkumar Narvariya Fraud Case) लंबे अरसे से यह फर्जीवाड़ा कर रहा था। आरोपी बैंक का प्रधान खंजाची था। जिसकी रिपोर्ट देरी से प्रबंधक तक पहुंची थी। जांच में पता चला कि किशोर गुरनानी, पंकज चौरसिया, योगेश शिवहरे, विनोद गौसर समेत कई अन्य लोगों की रकम को आरोपी  ने हड़प (Ujjain Gaban Case) लिया था। यह सारे उज्जैन के बड़े व्यापारी और प्रशासकीय अधिकारी है। उज्जैन ईओडब्ल्यू के अनुसार अभी आरोपी की गिरफ्तारी की जाना बाकी है। जिसके बाद संपत्ति को लेकर पड़ताल की जाएगी। हालांकि प्राथमिक जांच में यह पता चला है कि आरोपी ने रकम से अपनी निजी संपत्ति बना ली है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!