Bhopal Double Murder के बाद थाने पहुंचे मंत्री, 40 मिनट रहे

Share

Bhopal Double Murder : चंद घंटों पर टीआई को लाइन अटैच किए जाने पर खड़े हो रहे सवाल

Bhopal Brutal Murder Case
दोहरे हत्याकांड के मामले मेंं गिरफ्तार 3 आरोपी

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) में दो दिन पहले दो युवकों की बेरहमी से हत्या (Bhopal Double Murder) कर दी गई। इस हत्याकांड (Bhopal Brutal Murder) के कुछ घंटों बाद थाने के टीआई को लाइन अटैच कर दिया गया। इस कार्रवाई के बाद अगले दिन मंत्री बने विश्वास सारंग (Minister Vishwash Sarang) उसी थाने में पहुंच गए। यहां वे करीब 40 मिनट तक बैठे रहे। मंत्री के साथ भोपाल शहर डीआईजी इरशाद वली (DIG City Irshad Wali) भी थे। बंद कमरे में हुई चर्चा पुलिस विभाग में चर्चा का विषय बन रही हैं। वहीं दोहरे हत्याकांड (Bhopal Double Murder) के चंद घंटों बाद टीआई को लाइन हाजिर किए जाने पर भी सवाल खड़े हो रहे हैं।

अब तक क्या हुआ

छोला मंदिर थाना क्षेत्र स्थित नव जीवन कॉलोनी (Nav Jivan Colony Murder Case) में 2—3 जुलाई की रात योगेश लोधी (Yogesh Lodhi) और करण सौंधिया (Karan Saundhiya) की चाकू घोंपकर हत्या (Bhopal Chaku Ghopkar Hatya) की गई थी। इस हत्याकांड में वीरेंद्र उर्फ वीरेंद्र भारती ([email protected] Bharti), छोटू उर्फ भरत ([email protected]) और तीन नाबालिग थे। इस मामले में पुलिस ने चार आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। घटना के बाद अगले दिन 3 जुलाई की सुबह भोपाल रेंज के आईजी एडीजी उपेन्द्र जैन (ADG Upendra Jain) पहुंचे थे। उनके जाने के बाद शाम को छोला मंदिर टीआई आशीष भट्टाचार्य (TI Ashish Bhattacharya) की थाने से रवानगी कर दी गई थी। उनकी जगह पर अनिल सिंह मौर्य (Anil Singh Mourya) को भेजा गया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cheating News: फर्जी जमानतदार गिरफ्तार

यह भी पढ़ेें : दिग्विजय सिंह ने विहिप नेता के घर पहुंचकर साधा निशाना, भापा की तरफ से मुलाकात करने नहीं पहुंचा

टीआई आखिर कैसे नपे

मंत्री विश्वास सारंग (Minister Vishwash Sarang) योगेश लोधी और करण सौंधिया के परिवार से भी मिले। इस मुलाकात के दौरान उन्होंने पीड़ित परिवार को सांत्वना भी दी थी। इसके बाद सीधे छोला मंदिर थाने पहुंचे थे। पूर्व मंत्री पीसी शर्मा (Former Minister PC Sharma) ने कहा कि हत्या शराब की वजह से हुई है। मौजूदा सरकार ने शराब को प्राथमिकता में लिया है। उसका खामियाजा आम युवा को मिल रहा है। इधर, टीआई आशीष भट्टाचार्य के बारे में पता चला है कि वे हत्याकांड (Bhopal Double Murder) की खबर मिलने पर सीधे हमीदिया अस्पताल पहुंच गए थे। मौके पर उन्होंने तीन पार्टियां रवाना कर दी थी। इसके बाद तीन आरोपियों को सुबह 4 बजे के पहले तक हिरासत में भी ले लिया था। बताया जाता है कि टीआई आशीष भट्टाचार्य ने ब्रीफ नहीं किया इसलिए हटाया गया।

यह भी पढ़ें : हत्या की खबर छुपाई तो टीआई को डीआईजी सिटी ने दी ऐसी सजा

मंत्री का जाना सवाल खड़े करता

प्रदेश के नव निर्वाचित मंत्री विश्वास सारंग (Mantri Thane Pahunche) छोला मंदिर थाने में शनिवार दोपहर पहुंचे थे। उनके साथ भोपाल डीआईजी सिटी इरशाद वली भी थे। दोहरे हत्याकांड के बाद अचानक थाने पहुंचे मंत्री को लेकर सस्पेंस बना हुआ है। इस संबंध में पुलिस और मंत्री निवास से कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया नहीं दी गई। यह जरुर बताया गया कि मंत्री का नरेला विधानसभा क्षेत्र आता है जिसमें छोला मंदिर थाना भी आता है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cyber Crime: सेना के अफसर बनकर सेल्स मैनेजर के साथ धोखाधड़ी

यह था पूरा मामला : मारने गए थे दूसरे व्यक्ति को गदर मचाने पर ऐसा हुआ कि संभल नहीं पा रहा

दोहरे हत्याकांड की छाया

पुलिस सूत्रों ने बताया कि योगेश लोधी (Yogesh Lodhi Murder Case) और करण सौंधिया (Karan Saundhiya Murder) की हत्या के तार भोपाल में ही हुए एक अन्य दोहरे हत्याकांड (Bhopal Double Murder) से जुड़ रहे हैं। यह हत्या अम्मू और हेमू की हुई थी। इसके आरोपी बंटी को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। सूत्रों ने बताया कि हत्याकांड के वक्त यह सभी उन्हीं लोगों से जुड़े व्यक्ति हैं। यह लोग नशे की लत से घिरे हैं और किसी पर भी हमला कर देते हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!