Bhopal Corona Update: कोलार के बाद इस क्षेत्र को कंटेंनमेंट जोन बनाने की पूरी तैयारी

Share

Bhopal Corona Update: भोपाल के यह तीन इलाके जहां जरुरी होने पर ही जाने का फैसला लें

Bhopal Corona Update
राजधानी भोपाल में कोरोना से निपटने तैनात पुलिस अधिकारी संदेश के साथ फाइल फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Corona Update) में 60 घंटे का लॉक डाउन समाप्त होने जा रहा है। शहर में कोलार इलाके को मिनी कंटेंनमेंट जोन घोषित कर दिया गया है। लेकिन, शहर के दो अन्य बड़े इलाके जल्द कंटेंनमेंट जोन घोषित किए जा सकते हैं। रविवार को भोपाल में आधिकारिक रुप से 793 संक्रमित मरीजों की संख्या सामने आई है। इधर, पूरे प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्यु की संख्या 24 है। इंदौर में पांच और जबलपुर में चार लोगों की मौत हुई है। यह सरकारी आंकड़ा है। लेकिन, सूत्रों के हवाले से सोशल मीडिया में डाटा दूसरा चल रहा है।

अब तक 4100 की मौत

मध्य प्रदेश (MP Corona Update News) के 52 जिलों में अब तक संक्रमित मरीजों की संख्या 3,38145 पहुंच गई है। जब तक 4184 लोगों की मौत हो चुकी है। अभी भी प्रदेश में 35 हजार 316 एक्टिव केस है। प्रदेश में 39,288 जांच की गई। जिसमें 5939 कोरोना पॉजिटिव पाए गए। मरीजों की संख्या को देखे तो यह 15 फीसदी का आंकड़ा है। सर्वाधिक मौतें 999 इंदौर तो 646 लोगों की मौत आज दिनांक तक भोपाल में हो चुकी है। इसके अलावा भोपाल में 11 अप्रैल को 23 हजार से अधिक लोगों को वैक्सीन भी लगाई गई। सर्वाधिक वैक्सीन करीब 7400 कोलार और कटारा हिल्स में लगाई गई है। जबकि दूसरे नंबर पर बैरागढ़ मोतीपार्क इलाके में वैक्सीन लगाई गई।

सरकारी दफ्तरों में कर्मचारियों की ड्यूटी घटाई

Bhopal Corona Update
कोरोना वायरस सांकेतिक चित्र

मध्य प्रदेश के सामान्य प्रशासन विभाग ने कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हूए कर्मचारियों की संख्या घटाने का निर्णय लिया गया है। आदेश के तहत अब 25 फीसदी कर्मचारियों को ही ड्यूटी पर बुलाया जाएगा। इसके अलावा क्लास वन और टू के सारे अफसरों को आना होगा। तृतीय और चतुर्थ वर्ग के कर्मचारियों में ही 25 फीसदी उपस्थिति का फॉर्मूला लागू होगा। यह आदेश अवर सचिव सुनील मडावी ने रविवार को अवकाश के दिन जारी किए हैं। इससे पहले सरकार ने सप्ताह में पांच दिन सरकारी कार्यालय खोलने के आदेश दिए थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: सरकारी जमीन पर कब्जे को लेकर दो परिवार भिड़े

यह भी पढ़ें: इस वर्दी पहने दिल्ली के एसीपी के झांसे में न आना, वरना पूरे परिवार को पड़ेगा पछताना

अब आई पुलिस महकमे को सुध

Bhopal Corona Update
कोरोना से निपटने भोपाल कंट्रोल रुम- File Photo

रविवार को बागसेवनिया थाने के एसआई कुंजीलाल सेन (SI Kunjilal Sen) की कोरोना से मौत हो गई। जिसके बाद पुलिस विभाग को अपनी जिम्मेदारियों का अहसास हुआ। इस सिलसिले में रविवार सुबह ही द क्राइम इंफो ने इस मुद्दे को गंभीरता से उठाया था। जिसके बाद पुलिस मुख्यालय ने सभी कर्मचारियों के लिए ड्यूटी के दौरान फेस शील्ड लगाने और दूसरे एहतियात बरतने के भी आदेश जारी कर दिए हैं। स्पेशल ब्रांच की तरफ से जारी आदेश में कहा गया है कि सभी कर्मचारियों को एन—95 मास्क पहनना अनिवार्य होगा। यह आदेश भी रविवार को जारी किए गए हैं। इससे पहले सरकारी कर्मचारियों को लेकर सरकार ने किसी तरह का एक्शन प्लान नहीं बनाया था।

क्यों इन तीन इलाकों में खतरा

Ayush Minister Ram Kishore Kavre
कोविड-19, सांइटिफिक इमेज

सरकार की तरफ से कोलार में प्रयास शुरु कर दिए गए हैं। इसके बावजूद कई जगहों से रेमडेसियर इंजेक्शन की कमी खबरें आ रही है। इसके बावजूद सरकार निपटने का दावा कर रही है। कोलारी मिनी कंटेनमेंट जोन इस वक्त बना हुआ है। यहां भोपाल के 40 फीसदी कोरोना संक्रमित मरीज हैं। यहां ढ़ाई लाख की आबादी एक सप्ताह के लिए लॉक डाउन रहेगी। दूसरा मिनी कंटेनमेंट जोन गोविंदपुरा बनने जा रहा है। यह क्षेत्र भेल, अवधपुरी, पिपलानी, इंद्रपुरी, जेके रोड बन सकता है। यहां मरीजों की संख्या 1600 के लगभग बताई जा रही है। तीसरे नंबर पर अशोका गार्डन इलाका है। यहां मरीजों की संख्या 1200 से अधिक होने की जानकारी सामने आ रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation Case: छेड़खानी के लिए घर में घुसा

यह भी पढ़ें: भोपाल कलेक्टर ने कोरोना का संक्रमण बताकर कोलार में लॉक डाउन लगा दिया लेकिन यहां के अस्पताल में तो हालात हैरान कर देने वाले हैं

यह भी फैल रही अफवाह

Bhopal Corona Update
कोरोना वायरस की साइंटिफिक इमेज

रविवार को दिनभर उहापोह की स्थिति रही। दरअसल, कई जिलों में लॉक डाउन की अवधि बढ़ा दी गई है। इस बात की चिंता भोपाल के लोगों को भी थी। रविवार रात 10 बजे तक लॉक डाउन बढ़ाने को लेकर कोई फैसला नहीं हुआ था। इसके अलावा मौत के आंकड़े भी 66 बताए जा रहे थे। भदभदा में 39, सुभाष विश्राम घाट में 23 तो झदा कब्रिस्तान में 04 मौत होने की संख्या सोशल मीडिया में शेयर किए जा रहे थे। इन आंकड़ों के साथ यह भी बताया जा रहा था कि भोपाल में चार दिनों के भीतर 208 मौत हो गई है। हालांकि इन आंकड़ों की पुष्टि द क्राइम इंफो नहीं करता है।

Don`t copy text!