Bhopal Suspicious Death : मौत के बाद खुला किशोरी के बाल विवाह का राज

Share

Bhopal Suspicious Death : जांच अधिकारी का दावा, जहर खाने से लेकर मौत के पहले तक नहीं थी पुलिस को भनक

 

Bhopal Suspicious Death
प्रतीकात्मक फोटो

भोपाल। किशोरी के मौत के बाद उसका ऐसा राज खुला जो अपराध की श्रेणी में आता है। लेकिन, अब मामला नया बन गया है और जांच बदल गई है। मामला किशोरी की मौत (Bhopal Suspicious Death) से जुड़ा है। उसकी जहरीला पदार्थ खाने से इलाज के दौरान मौत (Bhopal Poison Drink Case) हुई है। जांच अधिकारी का दावा है कि जहर खाने से लेकर मौत (Bhopal Suspected Death Case) तक की कोई जानकारी उनके पास नहीं है। यहां तक की उन्होंने अपनी जांच का विषय न बताकर सीएसपी का बताया है। यह सही है कि नवविवाहिता की मौत की जांच सीएसपी करते हैं। लेकिन, शुरुआती जानकारी से जांच अधिकारी वाकिफ ही नहीं थे। इधर, चार मंजिला इमारत से गिरकर एक महिला की मौत हो गई। दोनों घटनाएं मध्यप्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। पुलिस ने शव पीएम के लिए भेज दिए हैं।

नाबालिग में हुई थी शादी

गांधी नगर थाना पुलिस ने बताया कि अफरोज खान (Afroz Khan) पति शावर खान उम्र 18 साल निवासी गांधी नगर इलाके की रहने वाली थी। परिजनों ने बताया कि अफरोज (Afroz Khan Death Case) की शादी शावर के साथ 2 साल पहले हुई थी। उस वक्त वह नाबालिग थी। शावर मजदूरी का काम करता है। अफरोज ने रविवार 19 तारीख को जहरीला पदार्थ खाया था। परिजन उसे हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंचे थे। जहां चार दिन चले इलाज के बाद उसने बुधवार रात 01 बजे दम तोड़ दिया। डॉक्टरों ने पुलिस को जानकारी सुबह 07 बजे दी थी। जांच अधिकारी एसआई एमएस पटेल (SI MS Patel) से जब इस संबंध में बात की तो उन्होंने कोई जानकारी होने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: बीटेक छात्रा से बीच राह में अश्लील हरकत

यह भी पढ़ें : चिरायु अस्पताल की छत पर नाच रहे इन मरीजों को देखकर आप यकीन नहीं कर सकेंगे कि कोरोना की दहशत भी है

बीमार अधेड़ महिला की मौत

मिसरोद थाना पुलिस ने बताया कि श्रीति दास (Shriti Das) पति मनोज उम्र 55 साल निवासी रूची लाईफ कॉलोनी में चौथी मंजिल पर रहती थी। श्रीति को टीबी की बीमारी थी। उसका इलाज चल रहा था। इस कारण दवा खाने पर उसको बैचेनी होती थी। बुधवार रात श्रीति को अचानक घबराहट हुई थी। वह कमरे से बाहर गैलरी में घूम रही थी। तेज आवाज होने के कारण पति मनोज की नींद खुली। उन्होंने घबराकर कमरे से बाहर झांका तो श्रीति जमीन पर गिरी थी। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पीएम के लिए भेज दिया है।

गढ्डा बन गया मौत का सामान

खजूरी सड़क में 8 वर्षीय बालक वंश प्रजापति (Vansh Prajapti) की पानी से भरे गढ्डे में डूबकर मौत (Bhopal Drowing Case) हो गई। घटना बुधवार शाम 6 बजे पिपरिया पाटन इलाके में हुई थी। यहां अशोक प्रजापति (Ashok Prajapati) का परिवार रहकर ईट बनाने का काम करता है। इसी ईट बनाने के लिए निकाली मिट्टी में भरे गड्ढे में गिरकर वंश (Gadde Me Girkar Mout) की मौत हो गई। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   पोस्टर से गायब था मंत्री का फोटो, आनन—फानन में बदला

 

Don`t copy text!