Bhopal Suicide Case: एमव्हीएम कॉलेज का छात्र फंदे पर लटका

Share

Bhopal Suicide Case: छात्र समेत चार व्यक्यिों की संदिग्ध परिस्थितियों में हुई मौत

Bhopal Suicide News
सांकेतिक चित्र

भोपाल। एमव्हीएम कॉलेज के एक छात्र ने गुरूवार सुबह फांसी (Bhopal Suicide Case) लगा ली। हालांकि आत्महत्या की वजह अभी साफ नहीं हो सकी है। वहीं तीन अन्य व्यक्यिों की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत (Bhopal Suspicious Death) हो गई। सभी मामले मध्यप्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) के हैं। पुलिस ने मर्ग कायम कर शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिए हैं।

मां गई थी कॉलेज

पिपलानी थाना पुलिस ने बताया एस.सतीश कोरवन पिता के.सरवन उम्र 18 साल का था। परिजनों ने बताया सतीश 100 क्वार्टर पिपलानी में रहता था। सतीश (Satish Korvan)  एमव्हीएम कॉलेज में प्रथम वर्ष की पढ़ाई कर रहा था। पिता इंडस्ट्रियल एरिया कारखाने में काम करता है। उसकी मां सत्य साई कॉलेज (Satya Sain College) में नौकरी करती है। सुबह बड़ा भाई अजीत (Ajit) मां को कॉलेज छोड़ने गया था। पिता भी काम पर चले गए थे। घर पर सतीश अकेला था।

भाई ने देखा था

अजीत मां को छोड़कर सुबह साढ़े ग्यारह बजे लौटा तो सतीश साड़ी के फंदे से लटका (Bhopal MVM Student Hanging) हुआ था। भाई ने आनन—फानन में सतीश को फंदे से नीचे उतारा और हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंचा। जहां इलाज के दौरान डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। मौके पर पहुंची पुलिस ने दोपहर 12 बजे मर्ग कायम किया। जिसके बाद शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। घटना स्थल से कोई सुसाइड़ नोट पुलिस को बरामद नहीं हुआ है। परिवार शोकाकुल होने के कारण किसी के बयान नहीं लिए गए हैं।

यह भी पढ़ें:   Indore : सड़क दुर्घटनाओं में 4 लोगों की दर्दनाक मौत

डॉक्टर सुनील मलिक को दिखाने आया

ऐशबाग थाना पुलिस ने बताया प्यारे लाल उइके उम्र 45 साल मूलत: छिंदवाड़ा (Chhindwara) का रहने वाला था। प्यारे पेशे से ड्राइवर था। उसके मालिक का डॉक्टर सुनील मलिक (Dr Sunil Malik) को दिखाने का बुधवार सुबह समय मिला था। मंगलवार रात दोनों गाड़ी से मलिक के दोस्त राजेंद्र बावरिया (Rajendra Bavariya) निवासी ओल्ड सुभाष नगर के घर में रूके थे। सभी ने रात में साथ में खाना खाया था। प्यारे की तबीयत कुछ ठीक नहीं लग रही थी। वह सोने चला गया था। रात एक बजे जब मलिक उसे देखने कमरे में गए तो वह बेसुध लेटा था। सभी उसे हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंचे थे।

रात में मिली सूचना

डॉक्टरों ने बुधवार—गुरूवार की दरमियानी रात डेढ़ बजे उसे मृत घोषित कर दिया था। अस्पताल से मिली सूचना पर पहुंची पुलिस ने रात 02:59 पर मर्ग कायम किया। गुरूवार सुबह पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया। इधर, हनुमानगंज थाना पुलिस ने बताया रिंकू खटीक (Rinku Khatik) पिता जसवंत उम्र 35 साल निवासी महाकाल मंदिर कबाड़खाना इलाके का रहने वाला था। परिजनों ने बताया रिंकू अचानक घर में बेहोश हो गया था। परिजन उसे हमीदिया अस्पताल लेकर पहुंचे थे। बुधवार—गुरूवार रात पौने एक बजे डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। उधर, राजेश मालवीय (Rajesh Maslviya) पिता चंदूलाल उम्र 48 साल की संदिग्ध परिस्थिति में इलाज के दौरान हमीदिया अस्पताल में मौत हो गई। कोहेफिजा पुलिस ने शव पीएम के बाद परिजनों को सौंप दिया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!