Bhopal Murder Case: दामाद ने साले को उतारा मौत के घाट

Share

Bhopal Murder Case:: बहन के साथ हुए विवाद में मां के साथ समझाने पहुंचा था साला

Bhopal Murder Case
चाकू लगने से मृत शेखर भदौरिया

भोपाल। मध्यप्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) के अवधपुरी इलाके में एक व्यक्ति की निर्मम तरीके से हत्या (Bhopal Murder Case) कर दी गई। विवाद पति-पत्नी के बीच चल रही कलह के वजह से हुई थी। जिसमें पत्नी के घर से उसकी मां और भाई पति को समझाने पहुंचे थे। दामाद इस बात से आवेश में आया उसने चाकू से हमला कर दिया। बीच बचाव में सास भी बुरी तरह से जख्मी हो गई।

पिता पुलिस में थे

घटना अवधपुरी थाना क्षेत्र स्थित युगांतर कॉलोनी (Yugantar Colony Murder) की है। यहां शेखर भदौरिया का परिवार रहता है। उसके नजदीक ही बेटी भी दामाद के साथ रहती है। एएसपी राजेश सिंह भदौरिया (ASP Rajesh Singh Bhadouriya) के मुताबिक गुरुवार रात लगभग 9 बजे बेटी का उसके पति विजय पंवार (Vijay Panvar) के साथ विवाद हो गया। जिसकी खबर लगने पर विजय पंवार की सास मीरा भदौरिया (Meera Bhadouriya) अपने छोटे बेटे शेखर भदौरिया को लेकर बेटी के घर पहुंची। शेखर के पिता पुलिस में थे और निधन के बाद बड़े बेटे विकास भदौरिया (Vikas Bhadouriya) को अनुकंपा नौकरी मिली थी। विकास पिपलानी थाने में तैनात हैं। दामाद विजय पंवार के पिता भेल से रिटायर हैं।

पेट में चाकू मारने से गई जान

विवाद को देखकर शेखर भदौरिया (Shekhar Bhadouriya Murder)  बहन को बचाने के लिए आगे आया। तभी आरोपी विजय पंवार ने चाकू मार दिया। यह चाकू शेखर के पेट में घुस गया। उसको नाजुक हालत में अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसको मृत घोषित (Bhopal Knife Killing) कर दिया। हमले में सास को भी हाथ में चाकू के गंभीर वार लगे हैं। पुलिस को घटना की सूचना नर्मदा अस्पताल (Narmada Hospital) से मिली थी। पुलिस ने मर्ग के बाद हत्या (Bhopal Brutal Murder) का मुकदमा दर्ज कर लिया है।

यह भी पढ़ें:   MP Police News: Tranfer-Posting के लिए सिफारिश आई तो खैर नहीं:डीजीपी

तीन दिन में दूसरी हत्या

अवधपुरी इलाके में तीन दिन के भीतर हुई हत्या का यह दूसरा मामला है। दोनों हत्या की घटना में एक बात कॉमन यह है कि दोनों परिवार पुलिस का है। इससे पहले वेदवती कॉलोनी में विजेंद्र परसोंदिया कि लोहे की रॉड से हमला करके हत्या कर दी गई थी। आरोपी विजेंद्र परसोंदिया की सौतेली माँ नीलू और उसका सौतेला भाई सौरभ थे। यह घटना 29 सितम्बर की सुबह हुई थी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!