Bhopal Suspicious Death: नाम तो है पर पहचानता कोई नहीं

Share

Bhopal Suspicious Death: फर्जी पता लिखाकर अस्पताल में इलाज के दौरान जान गंवाने वाले मरीज ने बढ़ाई मुश्किलें

Bhopal Suspicious Death
सांकेतिक चित्र

भोपाल। पुलिस के पास नाम है पता है फिर भी वह लाश (Bhopal Suspicious Death) को लावारिस मानने को मजबूर है। मामला संदिग्ध परिस्थितियों में हुई एक मौत से जुड़ा है। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। जिसकी जांच छोला मंदिर थाना पुलिस कर रही है। अब तक वह किसी नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। इसी थाने में एक अन्य व्यक्ति की मौत हो गई। वह फंदे पर लटका (Bhopal Suicide Case) मिला था। दोनों मामलों में पुलिस ने मर्ग कायम किया है।

अस्पताल का अटेंडर हुआ परेशान

छोला मंदिर थाना पुलिस ने बताया कि 19 अगस्त को जवाहर लाल नेहरु अस्पताल में विक्रम सिंह (Vikram Singh) पिता बलदेव उम्र 45 साल भर्ती हुआ था। उसने अपना पता कैंची छोला लिखाया था। उसको उल्टी दस्त की शिकायत थी। इलाज के दौरान विक्रम सिंह की 22 अगस्त को मौत हो गई। इसके बाद अस्पताल ने पुलिस को सूचना दी। जांच अधिकारी हवलदार सुनील कुमार ने बताया कि जो अस्पताल से पता नोट (Bhopal Suspicious Address Case) कराया गया वहां कोई व्यक्ति विक्रम सिंह नाम का नहीं मिला। उसकी पहचान से संबंधित जानकारी भी लोगों को बताई गई। पुलिस ने फिलहाल (Chhola Mandir Area Case) शव को लावारिस मानकर मर्चुरी रुम में रख दिया है।

पति की खुदकुशी से पत्नी बेखबर

इसी तरह छोला मंदिर थाना पुलिस ने एक अन्य मर्ग कायम किया है। घटना की सूचना पुलिस को 22 अगस्त की रात लगभग 8 बजे पीपुल्स अस्पताल (People Hospital) से मिली थी। शव की पहचान संतोष धाकड़ (Santosh Dhakad) पिता प्रेम नारायण उम्र 40 साल के रुप में हुई है। उसको पड़ोसी अस्पताल ले गए थे। पड़ोसियों ने बताया कि उसकी पत्नी मदद मांगने आई थी। फिलहाल खुदकुशी की वजह पता नहीं चली है। पुलिस को सुसाइड नोट (Bhopal Hanging Case) भी नहीं मिला है। पुलिस परिजनों के बयान दर्ज करने के बाद वजह पता करेगी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: एमपी ऑन लाइन जा रहे है तो हो जाइए सावधान

यह भी पढ़ें: डिप्टी रेंजर मां जो पहले पति से परेशान रही अब बेटी ने उसके सामने खड़ा कर दिया सामाजिक संकट

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!