Johnson & Johnson Employee Scam प्रोडक्ट का टारगेट पूरा करने की आड़ में लगाई चपत

Share

एरिया सेल्स मैनेजर ने नियमित ग्राहकों की सप्लाई बताकर कम्पनी से ले लिया लाखों रुपए का इंसेंटिव, दो आरोपी गिरफ्तार

Johnson & Johnson Employee Scam
गिरफ्तार आरोपी बाएं सत्यम और दाहिनी तरफ बादशाह

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी भोपाल (Bhopal) में जोनसन एण्ड जोनसन (Johnson & Johnson) कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर को कंपनी के एरिया सैल्स मैनेजर और अन्य कर्मचारियों ने 8 महीने में 23 लाख रूपए का चूना (#Bhopal Fraud) लगा दिया। कंपनी के प्रोडक्ट की गिरती सेल के चलते उन्हें ज्यादा से ज्यादा सेल करने का टॉरगेट मिला था।

इस टॉरगेट के पूरे होने पर इंसेंटिव के लालच में आरोपियों ने कंपनी के रेगूलर कारोबारियों को प्रोडेक्ट न देकर दूसरे कारोबारियों को सस्ते दामों में उसको बेच दिए। इसकी खबर लगने के बाद डिस्ट्रीब्यूटर ने हनुमानगंज थाने में शिकायत की थी। जिसकी जांच के बाद पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ धोखाधड़ी (#Bhopal Cheating) का मामला दर्ज किया है। पुलिस ने इस मामले में बादशाह और सत्यम नाम केे दो आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली हैै।
पुलिस के मुताबिक भारती निकेतन कैलाश नगर गोविंदपुरा निवासी सुनील कुमार अग्रवाल(50) (Sunil Kumar Agrawal) कोराबारी हैं। जुमेराती जनकपुरी जवाहर चौक पर उनका आॅफिस है। जबकि काजी कैम्प में गोदाम है। वर्ष 2018 में जोनसन एण्ड जोनसन कंपनी के अधिकृत डिस्ट्रीब्यूटर थे। कंपनी के सभी प्रोडेक्ट मार्केट में उपलब्ध कराए जाते हैं। उनके इस काम में कंपनी के एरिया सैल्स मैनेजर कोलकत्ता (#Kolkata) निवासी इमरान बारी के अलावा अतीक मोहम्मद उर्फ बादशाह और सत्यम गौर मदद करते थे। इमरान मार्केट से ऑर्डर लेने, बादशाह रिकवरी और सत्यम बिल बनाने का काम देखते थे। वर्ष 2018 के शुरूआती महीनों में अचानक कंपनी की सेल गिरने लगी थी। इसलिए कंपनी ने कर्मचारियों को अपने रेगूलर ग्राहकों को सस्ते दामों में प्रोडक्ट बेचने का टॉरगेट दिया था। इस टॉरगेट को पूरा करने पर कंपनी की और से इंसेंटिव देने की भी बात हुई थी। इस कारण टॉरगेट पूरा करने के लिए कंपनी के एरिया सैल्स मैनेजर ने बादशाह और सत्यम गौर के साथ मिलकर मार्केट से आॅडर लेना शुरू कर दिए। उन्होंने कंपनी के रेगूलर ग्राहकों को छोड़कर दूसरे नए ग्राहकों को सस्ते दाम में कंपनी के प्रोडक्ट बेचना शुरू कर दिया। इस बात की जानकारी कंपनी के आला अधिकारियों को पता चली तो उन्होंने अपने डिस्ट्रीब्यूटर अग्रवाल को रेगूलर ग्राहकों को प्रोडेक्ट न मिलने व दूसरे ग्राहकों को माल सप्लाई होने की जानकारी दी। इसके बाद पता चला कि इमरान, बादशाह और सत्यम ने मिलकर पिछले सात-आठ माह में दूसरे ग्राहकों को कंपनी का जो माल सप्लाई किया है, उससे उन्हें 23 लाख 30 हजार से ज्यादा का नुकसान हुआ है। इसका खुलासा होने पर सुनील अग्रवाल ने हनुमानगंज थाने में लिखित शिकायत की थी। जिसकी जांच के बाद आरोपियों के खिलाफ आईपीसी की धारा 420 एवं 408 के तहत केस दर्ज किया गया है। पुलिस ने आरोपी अतीक मोहम्मद उर्फ बादशाह और सत्यम गौर को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि एरिया सेल्स मैनेजर इमरान बारी की तलाश में जल्द ही पुलिस की एक टीम कोलकत्ता रवाना होगी।

यह भी पढ़ें:   बंदूक अड़ाकर बोले- तू जानता नहीं हमकों और खिलौना उठाकर ले गए
Don`t copy text!