Madhya Pradesh Dacoity: 90 हजार रुपए के लिए एक लाख रुपए का इनाम

Share

पीड़ित परिवार का आरोप पुलिस ने सुनी ही नहीं, अब जवाब नहीं दे पा रही भोपाल पुलिस

Madhya Pradesh Dacoity
डकैती की घटना में गंभीर रूप से जख्मी सुभाष चंद्र जायसवाल से मुलाकात करते हुए भोपाल डीआईजी सिटी इरशाद वली

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) की राजधानी (Bhopal) में तीन दिन पहले हुई डकैती (Madhya Pradesh Dacoity) की घटना का पुलिस अब तक सुराग नहीं लगा सकी है। लेकिन, उसकी कारगुजारी (Police Negligence) जरूर चर्चा का विषय बन गई है। दरअसल, पुलिस ने अपने रिकॉर्ड में लूटा गया माल 90 हजार रुपए का बताया है। वहीं बदमाशों (Bhopal Robber) का पता लगाने के लिए पुलिस की तरफ से 20 हजार तो पीड़ित परिवार की तरफ से 80 हजार रुपए का इनाम घोषित किया गया है।
जानकारी के अनुसार घटना 30—31 अक्टूबर की रात 3 बजे हुई थी। पीड़ित परिवार खजूरी सड़क में बकानिया के पास रहता है। बदमाशों ने किराना व्यापारी सुभाष चंद्र जायसवाल (Subhash Chandra Jaisawal) को निशाना बनाया था। बदमाशों ने लूटपाट (Robbery) का विरोध करने पर जायसवाल पर जानलेवा हमला भी किया था। हमले में जायसवाल को पांच टांके आए थे। बदमाश 50 हजार रुपए नकद और सोने—चांदी के जेवरात तिजौरी से निकालकर भागे हैं। डकैती की इस वारदात को पुलिस लूट (Bhopal Robbery Case) बता रही थी। वहीं लूटा गया माल 90 हजार रुपए बता रही हैं। जबकि परिवार ने दावा किया है कि सोने के जेवरात ही 25 तोला थे। पीड़ित परिवार सुभाषचंद्र जायसवाल (Subhash Chandra Jaisawal) का है। जिनकी बैरागढ़ इलाके में किराने की दुकान है।
परिवार के मुताबिक बदमाशों की संख्या 10 से 12 थी। परिवार खजूरी सड़क में बकानिया इलाके में रहता है। वारदात बुधवार—गुरुवार की रात 3 बजे हुई थी। बदमाश चेहरे पर नकाब पहने हुए थे। आहट होने पर परिवार जाग गया था। यह देखकर बदमाशों ने सुभाष को पीटना शुरू कर दिया। बेटा नीचे तो आया बचाव करने पर उसे भी पीटा गया। जख्मी सुभाष के सिर पर पांच टांके आए हैं। घटना के बाद पीड़ित परिवार से मुलाकात करने डीआईजी सिटी इरशाद वली स्वयं पहुंचे थे। उन्होंने परिवार को भरोसा दिलाया था कि जल्द इस मामले का खुलासा कर दिया जाएगा। लेकिन, तीन दिन बीत जाने के बावजूद पुलिस को अब तक कोई कामयाबी नहीं मिल सकी है। पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में एक संदिग्ध वैन नजर आई थी। उसका भी सुराग पुलिस नहीं लगा सकी है।

यह भी पढ़ें:   Shocking Accident : पत्नी के सामने ब्रिज से गिरकर इंजीनियर ने दम तोड़ा
Don`t copy text!