MP IPS Transfer: गृह मंत्री के ओएसडी बने अवस्थी

एसटीएफ से शिकायत शाखा में भेजे गए एडीजी को अतिरिक्त प्रभार

MP IPS Transfer
एडीजी अशोक अवस्थी

भोपाल। मध्य प्रदेश कैडर के 1990 बैच के आईपीएस अशोक अवस्थी तत्कालीन कांग्रेस सरकार में एसटीएफ में एडीजी थे। जहां उन्होंने व्यापमं घोटाला रिटर्न (Vyapam Scam) की फाइले खोली थी। इसके अलावा अवैध शस्त्र के लायसेंस के मामले में दर्जनों एफआईआर भी दर्ज की थी। इस कारण अशोक अवस्थी कांग्रेस सरकार में सुर्खियों में भी आए थे। मध्य प्रदेश में सरकार शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) के नेतृत्व में फिर बनी। जिसके बाद अशोक अवस्थी को एसटीएफ से हटाकर शिकायत शाखा भेज दिया गया था। मंत्रीमंडल गठन के बाद गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बनाए गए। उनके गृह मंत्री बनते ही अशोक अवस्थी को गृहमंत्री का ओएसडी बनाया गया है। यह प्रभार शिकायत शाखा के अतिरिक्त दिया गया है। इसके अलावा डीजी अनिल कुमार (IPS Anil Kumar) के रिटायर होने के बाद खाली हुई कुर्सी में 1986 बैच के आईपीएस संजय राणा को भेजा गया है। संजय राणा मध्य प्रदेश पुलिस हाउसिंग, गुप्त वार्ता समेत कई अन्य महत्वपूर्ण पदों में रहे हैं।

इधर, राज्य सरकार ने भोपाल कमिशनर समेत कई अन्य जिलों के कलेक्टर भी बदल दिए है। भोपाल कमिश्नर कल्पना श्रीवास्तव (Kalpana Shrivastav) को हटाकर कवींद्र कियावत (Kavindra Kiyavat) को बनाया है। इसी तरह छिंदवाड़ा कलेक्टर श्रीनिवास वर्मा (IAS Srinivas Verma) को हटाकर सौरव कुमार सुमन (IAS Saurav Kumar Suman) को जिम्मेदारी दी गई है। बुरहानपुर कलेक्टर राजेश कुमार कौल (IAS Rajesh Kumar Koul) की जगह प्रवीण सिंह अढायच (IAS Pravin Singh Adhiych) को जिम्मेदारी दी गई है। सिवनी कलेक्टर फटिंग राहुल हरिदास (IAS Fating Rahul Haridas) को बनाया गया है।

यह भी पढ़ें:   MP Cyber Crime : यदि आप रिटायर हो रहे हैं तो यह समाचार आपके लिए है

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!