MP Constable Suicide Case: फंदे पर लटकी मिली लाश

भोपाल पुलिस की एमटी शाखा के आरक्षक की मौत

MP Constable Suicide Case
मृतक दीपक परते

भोपाल। (Madhya Pradesh Crime News In Hindi) मध्य प्रदेश में कोरोना की सर्वाधिक मार स्वास्थ्य विभाग के बाद पुलिस महकमे में पड़ी है। मध्य प्रदेश में इंदौर—उज्जैन के टीआई (Madhya Pradesh Police Inspector Death Case) की मौत कोरोना के चलते हुई। वहीं इंदौर में एक एएसआई की भी कोरोना के चलते मौत हो गई थी। भोपाल में दो दर्जन से अधिक पुलिस अफसर और कर्मचारी इस बीमारी की चपेट में आए। हालांकि भोपाल में अधिकांश पुलिस अफसर और कर्मचारी स्वस्थ्य भी हुए। इधर, इस बीमारी की खौफ के बीच खबर है कि भोपाल पुलिस के एक कांस्टेबल (Bhopal Police Constable Suicide Case) ने फांसी लगा ली। घटना मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Crime News) के सिवनी (Seoni Crime News In Hindi) जिले की है। मौत के वास्तविक कारण सामने नहीं आए है। लेकिन, बताया जा रहा है कि कांस्टेबल (Seoni Police Constable Hanging Case) डिप्रेशन में चल रहा था। जिसकी वजह का कोई खुलासा नहीं हो सका है।

मध्य प्रदेश पुलिस में मोटर शाखा में भर्ती कांस्टेबल दीपक परते (Deepak Parte) पिता मान सिंह परते का शुक्रवार सुबह फंदे पर शव लटके हुआ मिला। वह मूलत: सिवनी (Seoni Crime News) जिले के छपारा गांव का रहने वाला था। दीपक परते (Constable Deepak Parte Suicide Case) के दो बच्चे, पत्नी और बहन भी है। बहन सरकारी नौकरी में हैं। पुलिस को पता चला है कि उसको लॉक डाउन के बीच टायफायड भी हुआ था। वह भोपाल में डीएसपी एनके रजक (DSP NK Rajak) का वाहन चलाता था। वह जिस वाहन में था उसी वाहन के एक अन्य चालाक को कोरोना हो गया था। जिसके बाद वह बिना बताए सिवनी चला आया था। छपारा थाना प्रभारी नीलेश परतेती (Neelesh Perteti) ने www.thecrimeinfo.com (द क्राइम इंफो डॉट कॉम) को बताया कि अभी मौत की वास्तविक वजह सामने नहीं आई है। वह ड्यूटी से गैरहाजिर था यह जरुर पता चला है। पुलिस ने मर्ग कायम कर लिया है और भोपाल पुलिस से उसके संबंध में जानकारी जुटाई जा रही है।

यह भी पढ़ें:   MP Crime News: पंजाब—हरियाणा के कुख्यात बदमाशों को घेराबंदी के बाद दबोचा

अपील

देश वैश्विक महामारी से गुजर रहा है। हम भी समाज हित में स्पॉट रिपोर्टिंग करने से बच रहे हैं। इसलिए समाज और लोगों से अपील करते हैं कि यदि उनके पास भ्रष्टाचार, कालाबाजारी या जिम्मेदार अफसरों की तरफ से लापरवाही की कोई जानकारी या सूचना हैं तो वह मुहैया कराए। www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!