महिलाओं ने रोका सीएम शिवराज का काफिला, सुनाई व्यथा

Share

निजी स्कूलों की फीस से परेशान महिलाओं ने सीएम को रोका

Shivraj Singh Chouhan
महिलाओं ने सीएम शिवराज का रोका

इंदौर। (Indore) कोरोना महामारी के बीच भी निजी स्कूल प्रबंधन फीस वसूलने पर आमादा है। लॉकडाउन की वजह से पैदा हुए आर्थिक संकट ने सभी वर्गों को प्रभावित किया है। ऐसे में अभिभावकों को दुगनी परेशानी उठानी पड़ रही है। लिहाजा उनके सब्र का बांध टूटने लगा है। जिसकी तस्वीर इंदौर में देखने को मिली। जब कुछ महिलाओं ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chouhan) का काफिला रोक लिया। सीएम से मिलने के लिए महिलाएं सड़क पर उतर आईं और गाड़ियों के सामने खड़ी हो गई।

पुलिस के सामने सीएम को रोका

शुक्रवार को मुख्यमंत्री इंदौर के दौरे पर थे। इसी दौरान महिलाओं ने उन्हें रोका और अपनी व्यथा सुनाई। स्कीम नंबर 140 इलाके में पुलिस की मौजूदगी में महिलाओं ने सीएम को रुकने को मजबूर किया। महिलाओं और सीएम के बीच हुई बातचीत का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। महिलाओं को चौहान को एक निजी स्कूल के बारे में बताते हुए सुना गया कि वे अभिभावकों को फीस देने के लिए धमकी दे रहे हैं।

आश्वासन देकर आगे बढ़ गए शिवराज

वीडियो में दिख रही एक महिला ने मुख्यमंत्री को बताया कि कैसे एक स्कूल प्रबंधन फीस न भरने पर स्कूल में घुसने भी नहीं दे रहा। अभिभावकों की इस व्यथा पर मुख्यमंत्री ने आश्वासन दिया और आगे बढ़ गए। बता दें कि गुरुवार को मुख्यमंत्री इंदौर और सांवेर के दौरे पर थे। जहां उन्होंने 237 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से निर्मित एक सरकारी-संचालित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल का उद्घाटन किया और जिले के सांवेर क्षेत्र में 150 करोड़ रुपये से अधिक की विभिन्न विकास परियोजनाओं का शिलान्यास किया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Theft Case: तिरूपति अभिनव होम्स में चोरों का धावा

कांग्रेस ने की समस्या का समाधान किए जाने की मांग

सीएम शिवराज ने अधिकारियों को दिए निर्देश

कल इंदौर में मुझे कुछ बहनों ने मिलकर निजी स्कूलों द्वारा फीस को लेकर की जा रही मनमानी से अवगत कराया था। मैंने आज अधिकारियों को इस संबंध में आवश्यक निर्देश दे दिए हैं। निजी स्कूलों की मनमानी नहीं चलेगी। इस संकटकाल में उन्हें अभिभावकों से अनाप-शनाप फीस वसूलने नहीं दिया जाएगा।

यह भी पढ़ेंः नीट और जेईई के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में लगी याचिका

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!