Bhopal News: सरकारी कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत 

Share

Bhopal News: सवाल-जवाब पर पसीना हुए जांच अधिकारी, ठोस जानकारी का दिखा अभाव, शहर में फैल गई थी कई तरह की अफवाह

Bhopal News
ग्राफिक डिजाईन टीसीआई

भोपाल। सरकारी कर्मचारी की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत का एक मामला सामने आया है। यह घटना भोपाल (Bhopal News) शहर के टीटी नगर इलाके में हुई है। इस मामले के जांच अधिकारी सवाल-जवाब से पसीना-पसीना हो गए। उनकी बातचीत से यह अहसास नहीं हुआ कि उन्होंने कोई मौका मुआयना किया है। हालांकि सूत्रों से मामले में संदिग्ध होने की कुछ बातें सामने आई है। पुलिस को पीएम रिपोर्ट मिलने का इंतजार है। जिसके बाद परिस्थितियां साफ होने का दावा किया जा रहा है।

कई तरह के विरोधाभासी बयान

टीटी नगर थाना पुलिस के अनुसार जेपी अस्पताल (JP Hospital News) से 9 सितंबर की रात लगभग साढ़े दस बजे डाॅक्टर पटेल ने एक व्यक्ति के मृत होने की सूचना दी थी। जिस पर टीटी नगर पुलिस मर्ग 38/22 दर्ज कर मामले की जांच करने पहुंची। मामले की जांच एसआई संजय वर्मा (SI Sanjay Verma) कर रहे है। हालांकि उन्होंने कोई ठोस जानकारी होने से इंकार कर दिया। उनका कहना था कि पीएम रिपोर्ट मिलने के बाद वे वस्तुस्थिति बता सकेंगे। इसके अलावा उनके पास कोई जानकारी नहीं थी। खबर है कि शव की पहचान चंद्रभान शिंदे पिता एसएस शिंदे उम्र 50 साल के रूप में हुई है। वे तुलसी नगर स्थित पीडब्ल्यूडी शेड क्वार्टर के नजदीक रहते थे। चंद्रभान शिंदे (Chandrabhan Shinde) का शव पीएम के लिए भेज दिया गया है। चंद्रभान शिंदे सरकारी नौकरी करता है। शुरूआती जांच में पता चला है कि घर पर पति-पत्नी के बीच कलह हुई थी। हालांकि परिवार ने इस बात की पुष्टि नहीं की है। परिवार का दावा है कि वे पलंग से गिर गए थे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Satna Suicide Case : जहां बजते थे फरियाद के घंटे वहां गूंजी धांय की आवाज
Don`t copy text!