MP Cop Gossip: अफसर को थमाया गया लाखों रूपए की रिकवरी का नोटिस

Share

MP Cop Gossip: महालेखाकार के एक अधिकारी से थाने में भिड़ गए एएसआई, टक्कर मारने वाले कार चालक के पक्ष में माहौल बनाने का आरोप लगाकर डीजीपी से हुई शिकायत, मैन स्ट्रीम मीडिया से पूरी रिपोर्टिंग हुई गायब

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस महकमा काफी बड़ा होता है। उसके भीतर बहुत कुछ चल रहा होता है। जिसमें कुछ बातें सामने आती है और बहुत सारी जानकारियां फाइलों में दबी रह जाती है। ऐसे ही विषयों पर हमारा नियमित साप्ताहिक कॉलम एमपी कॉप गॉसिप (MP Cop Gossip) है। इस नियमित कॉलम के जरिए छोटी—बड़ी बातों को सामने लाना होता है। हमारा इरादा किसी व्य​वस्था अथवा व्यक्ति  को कम—ज्यादा आंकना नहीं होता।

रिकवरी के नोटिस से हड़कंप

शहर के एक बड़े मलाईदार थाने के प्रभारी रहे अधिकारी को रिकवरी का नोटिस थमा दिया गया है। यह नोटिस उनके कार्यकाल में की गई खरीदारी को लेकर जारी किया गया है। इसके बाद यह अधिकारी महोदय हाशिए पर धकेल दिए गए है। खबर है कि यह रिकवरी लाखों रूपए की है। जिसकी जानकारी बाहर न आए इसके लिए काफी कोशिशें की जा रही है। अगर यह बाहर आई तो महकमे की साख पर भी बट्टा लगेगा। इसलिए जांच करने वाले अफसर भी खामोश हो गए हैं। यह अधिकारी वही है जो पहले पुलिस कमिश्नर प्रणाली शुरू होने से पहले कप्तान साहब के दाहिने हाथ भी हुआ करते थे। इनके बिना अफसरों को वाहन भी उपलब्ध नहीं होता था।

विधायक की आड़ में राजनीति

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

शहर में इन दिनों कोलार थाने से हटाए गए पांच पुलिसकर्मियों को लेकर कान ही कान में फुसफुसाहट चल रही है। यह विधायक रामेश्वर शर्मा है। जिन्होंने पुलिस कर्मियों को हटाने के लिए जिला मंत्री भूपेंद्र सिंह से पत्राचार किया था। इनकी पार्टी स्तर पर काफी शिकायतें मिल रही थी। उसकी वजह भी काफी बड़ी बताई जा रही है। यदि यह सार्वजनिक हुई तो महकमे को तोहमत लगेगी। इसलिए इन्हें थाने (MP Cop Gossip) के अंगद बताकर अफसर अंगडाई लेते हुए मामले को बेहद हल्का कर रहे हैं। लेकिन, जिस दिन इन बीमारियों का जिन बाहर निकलेगा उस दिन काफी किरकिरी होना तय माना जा रहा है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: चौदह साल के बच्चे ने फांसी लगाई

इधर शपथ उधर पीट रहा था कांस्टेबल

यह घटना विदिशा जिले के त्योंदा क्षेत्र की है। यहां के एएसपी समीर अभियान प्रहार के लिए मैदानी कर्मचारियों को शपथ दिला रहे थे। उसी वक्त आरक्षक गोविंद गौड ने एक युवती की बेरहमी से पिटाई लगा दी। जिसके बाद एसपी मोनिका शुक्ला ने आरक्षक को निलंबित करने के आदेश दे दिए। उसे दो लड़कों ने पीटा था। जिसकी शिकायत लेकर वह एसपी के पास जा रही थी। तभी कांस्टेबल ने उसे रोक लिया था। वह उसे विदिशा जिले से बाहर ले गया फिर वहां ले जाकर उसकी बुरी तरह से फिर पिटाई लगा दी थी। इससे पहले विदिशा जिले में ही एक ढाबे से उगाही का आडियो वायरल हुआ था। जिसमें कांस्टेबल ने पैसा न मिलने पर तोड़फोड़ भी ढाबे में जाकर की थी।

डीजीपी से हुई एएसआई के खिलाफ शिकायत

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

यह घटना भोपाल के बैरागढ़ थाना क्षेत्र की है। शिकायत सीहोर जिले में तैनात प्रधान महालेखाकार कार्यालय के अधिकारी शैलेन्द्र बहादुर सिंह (Shailendra Bahadur Singh) ने की थी। उनका आरोप था कि 8 अक्टूबर को वे भाई को भोपाल रेलवे स्टेशन छोड़कर सीहोर जा रहे थे। इससे पहले उनकी कार को नशे में धुत एक व्यक्ति ने टक्कर मार दी थी। यह जानकारी पुलिस नियंत्रण कक्ष में भी दर्ज कराई गई थी। इसके बाद परिवार को बैरागढ़ थाने (MP Cop Gossip) में बुलाया गया। जहां सिंह की मुलाकात एएसआई लवकुश पांडे (ASI Lavkush Pandey) से हुई। आरोप है कि वे वे मामले को रफादफा करने का दबाव बना रहे थे। इतना ही नहीं उनके साथ मौजूद भतीजे के एनकाउंटर की धमकी दी गई। विरोध करने पर परिवार के ही खिलाफ उस वाहन चालक की शिकायत पर मारपीट का मामला दर्ज कर लिया गया।  जबकि एएसआई के खिलाफ उनके पास पर्याप्त सबूत होने का दावा अपने आवेदन में किया गया है। हालांकि यह पूरा घटनाक्रम मैन स्ट्रीम मीडिया को मालूम होने के बावजूद उसकी रिपोर्टिंग नहीं की गई। अब मामले की जांच डीजीपी के पास लंबित हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case: नेत्रहीन महिला से ज्यादती और कुकर्म

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!