Bhopal Loan Scam: एक साल से फरार जालसाज को क्राइम ब्रांच ने दबोचा

Share

Bhopal Loan Scam: प्लॉट पर मकान बताकर तीन बैंकों से लोन लेने वाले गिरोह के दो सदस्य गिरफ्तार, क्राइम ब्रांच को अभी भी पांच व्यक्तियों की तलाश, बैंकों के कर्मचारियों पर संदेह

Bhopal Loan Fraud
ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। होम लोन की आड़ में पैसा लेकर फरार होने वाले एक गिरोह के दो सदस्यों को दबोचा गया है। यह कार्रवाई भोपाल (Bhopal Loan Scam) शहर के क्राइम ब्रांच पुलिस की टीम ने की है। इस मामले में पुलिस को अभी भी पांच व्यक्तियों की तलाश है। गिरोह का सरगना के झांसे में आकर दो दंपति ने अलग—अलग तीन बैंकों से करीब 18 लाख रूपए का लोन लिया था। ऐसा करने के लिए एक महिला ने अपने जमीन के दस्तावेजों को मुहैया कराया था। उस खाली जमीन पर मकान दर्शाकर यह हाउसिंग लोन लिए गए थे। यह मामला पिछले साल क्राइम ब्रांच में दर्ज किया गया था।

इन्होंने लिया था फर्जी तरीके से लोन

भोपाल पुलिस की तरफ से जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार इस मामले के मुख्य आरोपी के साथ मास्टर माइंड को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। इसकी शिकायत 28 नवंबर, 2021 को अमित सिंह (Amit Singh) ने की थी। वे शुभम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड में क्लस्टर मैनेजर हैं। उन्होंने बताया था कि बैंक से गीता सिंगरोले (Geeta Singrole) और उसके पति घनश्याम सिंगरोले ने लोन लिया है। दोनों ने अशोका गार्डन स्थित पुरुषोत्तम नगर (नवीन नगर) ओल्ड सेमरा स्वप्निल स्कूल (Swapnil School) के पास का पता था। जबकि दंपति का स्थायी पता ग्राम भटेरा तहसील गाडरवारा जिला नरसिंहपुर है। इसी तरह बैंक से अल्लारखा उमर परसाला और उसकी पत्नी रहीमा परसाला (Rahima Parsala) ने भी लोन लिया था। उन्होंने अपना पता पुराने आरटीओ के पीछे पुतली घर का पता दिया था। आरोपियों ने शुभम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (Shubham Housing Development Finance Company LTD) से लोन लेने के लिए ईटखेड़ी स्थित अरवलिया के खसरा नबंर 194/2/2ख/1रकबा0.240 पर मकान दर्शाया था। लोन लेने के बाद जब खाता एनपीए हुआ तो मौके पर जाकर पड़ताल की गई। उस भूखंड पर मकान की बजाय खाली जमीन बैंक को मिली थी।

इस तरह से लिया गया था लोन

क्राइम ब्रांच को जांच में पता चला कि अल्लारखा परसाला (Allarakha Parsala) ने छ लाख से अधिक का लोन लिया था। वहीं घनश्याम सिंगरोले (Ghanshyam Singrole) ने पौने सात लाख रूपए से अधिक का लोन लिया था। दोनों आरोपी परिवार को लोन दिलाने में उज्जवल जैन (Ujjwal Jain) नाम के व्यक्ति ने भूमिका निभाई थी। जबकि जिस प्लॉट पर लोन लिया वह ज्योति सिंह (Jyoti Singh) और उसके पति रघुवीर सिंह (Raghuveer Singh) के नाम पर भी नहीं था। शिकायत की जांच के बाद क्राइम ब्रांच ने 11 दिसंबर, 2021 को 325/21 धारा 420/406 जालसाजी और गबन का मामला दर्ज किया गया। इसी मामले की जांच में पता चला कि आरोपी घनश्याम सिंगरोले और उसकी पत्नी गीता सिंगरोले ने कैपरी ग्लोबल फायनेंस कंपनी (Capri Global Finance Company  ) से भी लोन लिया था। ऐसा करने के लिए उसी प्लॉट के दस्तावेज दिए गए थे जिससे शुभम फायनेंस कंपनी से लोन लिया था। इसकी रजिस्ट्री भी ज्योति सिंह ने कराई थी। इस प्लाट पर भी करीब दो लाख रूपए लिए गए थे। रजिस्ट्री गीता सिगरोले के नाम पर की गई थी। इसी प्लॉट पर दोनों आरोपियों ने तीसरा लोन आदित्य विडला फायनेंस कपंनी (Aditya Vidla Finance Company) से लिया था। यह लोन करीब पौने चार लाख रूपए का था। लोन की रकम ज्योति सिंह के खातों मे ट्रांसफर हुई थी।

मुकदमा दर्ज होने के बाद भूमिगत हुए

लोन लेने के लिए पेपर उज्जवल जैन बनाता था। लोन की रकम भूमि स्वामी ज्योति सिंह व उसके पति रघुवीर सिहं, उज्जवल जैन, घनश्याम सिंगरोले, गीता सिंगरौले, अल्लारखा परसाला और रहीमा परसाला आपस में बांट लेते थे। तीन निजी बैंकों (Bhopal Loan Scam) शुभम हाउसिंग डेवलपमेंट फाइनेंस कंपनी लिमिटेड मानसरोवर, कैपरी ग्लोबल फायनेंस कंपनी एमपी नगर और आदित्य बिड़ला हाउसिंग फायनेंस कंपनी के इन मामलों में आरोपी गीता सिंगरौले, उसके पति घनश्याम सिंगरौले, अल्लारखा उमर परसाला और रहीमा अल्लारखा परसाला की तलाश थी। आरोपी अपने मोबाइल नंबर और ठिकाने बार-बार बदल रहे थे। इसी मामले में अब पुलिस ने आरोपी घनश्याम सिंगरौले और उज्ज्वल जैन को शुजालपुर से गिरफ्तार कर लिया है। दोनों आरोपियों को अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया गया है।

इन्होंने ने निभाई सराहनीय भूमिका

Bhopal Loan Scam
क्राइम ब्रांच थाना— जिला भोपाल— फाइल फोटो।

पुलिस ने शक जताया है कि आरोपियों के प्लॉट का वैल्यूएशन और तस्दीक करने वाले बैंक कर्मचारियों की मिलीभगत इस मामले में हो सकती है। इसके अलावा कई अन्य बैंकों को भी ​इस गिरोह ने चूना लगाया है। इसके अलावा पुलिस ने धारा 120—बी भी बढ़ा दी है। जिसमें उज्जवल जैन को गिरफ्तार किया गया है। गिरफ्तारी और धरपकड़ की जांच में थाना क्राइम ब्रांच निरीक्षक अनूप कुमार उईके(Anoop Kumar Uikey) , एसआई कलीमउद्दीन, एएसआई राजेश जामलिया(ASI Rajesh Jamliya) , जुबेर अहमद, हवलदार संतोष तनवे, सिपाही सुरेन्द्र कुशवाह, जितेन्द्र चंदेल, महिला आरक्षक अनुराधा बघेल (Anuradha Baghel) ने सराहनीय भूमिका निभाई है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: युवती को बंधक बनाकर बलात्कार

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Loan Scam
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!