Bhopal Cyber Fraud: सेना के अफसर को एफआईआर दर्ज कराने आ गया पसीना

Share

Bhopal Cyber Fraud: सेना के नाम पर राजनीतिक इवेंट करने वाली पार्टियों को सबक लेना चाहिए

Bhopal Cyber Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal Cyber Fraud) कोहेफिजा थाने से मिल रही है। जांच अधिकारी से सवाल पूछे तो बगले झांक रहे हैं। मामला सेना के नायाब सूबेदार से जुड़ा था। उसको अपने मामले में न्याय नहीं मिल पा रहा था। एक—दो या तीन दिन नहीं पूरे तीन साल से एफआईआर तक दर्ज नहीं हुई। उनसे टॉवर लगाने के नाम पर सायबर फ्रॉड हुआ था।

अ…अ…अ… मुझे पता नहीं

कोहेफिजा थाना पुलिस के अनुसार 16 सितंबर की शाम लगभग साढ़े छह बजे धारा 420 जालसाजी का मुकदमा दर्ज किया गया है। यह प्रकरण 16 सितंबर की शाम साढ़े सात बजे दर्ज किया गया है। घटना डी—टाइप द्रोणाचंल की है। जिसकी शिकायत संजय कुमार मित्रा पिता स्वर्गीय कार्तिक मित्रा उम्र 44 साल निवासी ने दर्ज कराई है। यहां सेना में वे नायाब सूबेदार है। संजय कुमार मित्रा (Sanjay Kumar Mishra) ने बताया कि उनके मोबाइल पर फोन आया था। उसने मोबाइल टॉवर लगाने का झांसा दिया गया था। उसको अनुमति के लिए तरीका भी बताया गया था। फिर उससे कई किस्त में करीब 8 लाख रुपए निकाल लिए गए। यह पूरी घटना जनवरी, 2019 से अप्रैल, 2019 के बीच अंजाम दी गई थी। इस मामले में पुलिस ने एफआईआर की देरी पर सायबर क्राइम में ठीकरा फोड़ दिया। मामले की जांच अब कोहेफिजा थाने में एएसआई रमेश मिश्रा (SI Ramesh Mishra) को दी गई है।

यह भी पढ़िए: भोपाल के ‘विजय माल्या’ की कहानी, सिस्टम और सरकार उसके आगे नतमस्तक हैं, नहीं तो इतना सबकुछ होने पर भी वह नहीं बचता

यह भी पढ़ें:   प्रमुख सचिव गृह एसएन मिश्रा पहुंचे पीएचक्यू

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cyber Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!