Bhopal Cyber Fraud: आर्मी मैन बनकर सायबर फ्रॉड

Share

Bhopal Cyber Fraud: फेसबुक पर गाड़ी बेचने का दिया था विज्ञापन, ग्राहक बनकर किया फर्जीवाड़ा

Bhopal Cyber Fraud
आरोपियों ने यकीन दिलाने के लिए आर्मी का यह आई कार्ड कपड़ा व्यापारी को भेजा था। यह तस्वीर पीड़ित ने हमें उपलब्ध कराई है।

भोपाल। आर्मी मैन बनकर सायबर फ्रॉड (Bhopal Cyber Fraud) का मामला सामने आया है। घटना मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के देहात क्षेत्र में स्थित ईटखेड़ी इलाके की है। आरोपी ने खुद को आर्मी का जवान बताया था। उसने फेसबुक पर गाड़ी बेचने का विज्ञापन दिया था। पीड़ित ने उसी विज्ञापन को देखकर उससे संपर्क (Bhopal Cyber Crime News) किया था। कई किस्तों में आरोपी ने पीड़ित के खाते से मोटी रकम निकाल ली। उसके बाद पीड़ित ने सायबर सेल में शिकायत की थी। सायबर सेल ने जांच के बाद संबंधित थाने में केस डायरी भेज दी है।

17 दिन पहले देखा था विज्ञापन

ईटखेड़ी थाना पुलिस ने बुधवार रात लगभग साढ़े ग्यारह बजे 383/21 धारा 420/ (धोखाधड़ी) का मामला दर्ज किया है। शिकायत महाराज सिंह पिता हरि प्रसाद उम्र 52 साल ने दर्ज कराई है। वह ईटखेड़ी गांव में रहता है। महाराज सिंह कपड़े की दुकान चलाता है। उसने फेसबुक पर 31 अक्टूबर को बाइक बेचने का विज्ञापन देखा था। विज्ञापन पर दिए नंबर पर उसने संपर्क किया। आरोपी ने जबलपुर में खुद को आर्मी का जवान बताया था। दोनों का सौदा 18 हजार रूपए में तय हुआ था। पैसों का भुगतान पीड़ित ने फोनपे के जरिए किया। उसके बाद कई किस्तों में आरोपी ने महाराज (Maharaj) के खाते से 45,350 रूपए निकाल लिए। नंबर बंद होने के बाद पीड़ित को धोखाधड़ी का पता चला। सायबर क्राइम पुलिस ने शून्य पर मामला दर्ज कर केस डायरी ईटखेड़ी खाने भेज दी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cyber Crime: दवा कारोबारी को एक लाख रुपए की चपत लगाई

मीडिया से बातचीत करने के लिए थी बंदिशें

Bhopal Cyber Fraud
आरोपी ने सेना के ट्रक में लोड होने से पहले बाइक को सुरक्षित दो लोगों के जरिए पैकिंग करते दिखाते हुए तस्वीर भेजी थी। यह तस्वीर पीड़ित व्यक्ति ने द क्राइम इंफो को मुहैया कराई है।

आरोपी बेहद शातिर थे। उन्होंने महाराज सिंह को बाइक नंबर एमपी—14—एमपी—7498 का सौदा किया था। पहली किस्त 15 हजार रुपए ली गई थी। जिसके बाद उसको आरोपियों ने सेना का ट्रक का वीडियो भेजा। जिसमें उसकी बाइक लोड होने की जानकारी दी गई। इतना ही नहीं रेलवे पार्सल का भी वीडियो बनाकर भेजा गया। जिसमें यह बताया गया कि बाइक पैक करके भेजी जा रही है। फिर उसको जीएसटी, मालभाड़ा चुकाने के नाम पर पैसा मांगा। महाराज सिंह ने यह सारी वीडियो और उसकी जानकारी सायबर क्राइम को दी थी। सायबर क्राइम के अफसरों ने यह बात मीडिया से साझा करने से रोका था।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!