जीतू पटवारी के खिलाफ FIR पर भड़के कमलनाथ, शिवराज सरकार को दी खुली चेतावनी

Share

पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा, सांसद विवेक तन्खा भी आए साथ

Jitu Patwari
कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री, फाइल फोटो

भोपाल। मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के कार्यवाहक अध्यक्ष जीतू पटवारी (Jitu Patwari) के खिलाफ एफआईआर (FIR) दर्ज किए जाने पर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) ने नाराजगी जाहिर की है। कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने शिवराज सरकार (Shivraj Govt) को चेतावनी देते हुए सड़कों पर उतरने की बात कही है। पटवारी के समर्थन और राज्य सरकार की कार्रवाई के खिलाफ कमलनाथ ने ट्वीट्स किए है। वहीं इंदौर के छत्रिपुरा थाने में प्रकरण दर्ज होने के बाद जीतू पटवारी का बयान भी सामने आया है।

कमलनाथ का बयान

‘मैं पहले भी इस बात को कह चुका हूँ और आज फिर दोहरा रहा हूँ भाजपा प्रदेश में निरंतर ग़लत परंपराओ को जन्म दे रही है , राजनैतिक बदलेबाजी , दबाव -दुर्भावना की राजनीति व द्वेष भावना से काम कर रही है। भाजपा जनता का विश्वास खो चुकी है इसलिये बौखलाहट में यह सब कर रही है।’

‘सरकारें आती जाती रहती है। हमारी भी प्रदेश में सरकार रही है लेकिन हमने कभी इस भावना से काम नहीं किया। हम भी यदि भाजपा की राह पर चलते तो आज कई भाजपाइयों पर इसी तरह से प्रकरण दर्ज हो चुके होते लेकिन हम इस तरह की राजनैतिक द्वेष भावना में विश्वास नहीं करते है।’

‘प्रदेश भर में हमारे नेताओ , जनप्रतिनिधियो व कार्यकर्ताओं को चुन-चुन कर निशाना बनाया जा रहा है , सोशल मीडिया पर काम करने वाले हमारे लोगों को डराया , धमकाया जा रहा है , उन पर झूठे प्रकरण दर्ज किये जा रहे है।’

‘मैं भाजपा सरकार को खुली चेतावनी देता हूँ कि वो इस कुत्सित व घृणित राजनीति से बाज आये अन्यथा हमें सड़कों पर उतरना पड़ेगा , भाजपा सरकार की इस दमनकारी सोच का मुँह तोड़ जवाब देना पड़ेगा।‘

यह भी पढ़ें:   अब पंजाब कांग्रेस में कलह, मुख्यमंत्री की घेराबंदी

‘हम अन्याय बर्दाश्त नहीं करेंगे , हमने देश की आज़ादी की लड़ाई के लिये अंग्रेजो से संघर्ष किया है तो भाजपा क्या है ? भाजपा सरकार ने यदि इस तरह की द्वेष भावना की राजनीति बंद नहीं की तो हम इसके ख़िलाफ़ प्रदेशव्यापी आंदोलन करेंगे।’

सुनिए जीतू पटवारी ने क्या कहा

सज्जन सिंह वर्मा का बयान

जीतू पटवारी जी पर एफआईआर सच्चाई की आवाज दबाने की कोशिश है। कांग्रेस का एक एक कार्यकर्ता बीजेपी की इस अंधेरगर्दी का जवाब देगा।

राज्यसभा सांसद भी आए पटवारी के साथ

देश मे राजनीतिक व्यंग्य की समाप्ति। यदि व्यंग्य करने वाला बीजेपी समर्थक तो व्यंग्य ओर विपक्षी तो अपराध। इंडीया टीवी का राहुल, सोनिया जी पर व्यंग्य जायज जबकि जीतू पटवारी का व्यंग्य अपराध।क्या ? भारत के कानून मे दोहरे मापदंड है। यह तो “रूल ऑफ लॉ” नहीं।

यह भी पढ़ेंः सियासी हुआ मध्यप्रदेश का बासमती चावल, पाकिस्तान तक पहुंची जंग

यह भी पढ़ें:   Bhopal Woman Harrasment Case: दूसरी शादी के लिए पहली पत्नी को घर से किया बेदखल

कुणाल चौधरी का बयान

काँग्रेस विधायक जीतू पटवारी जी पर FIR दर्ज करवाना भाजपा नेताओं के मानसिक दिवालियापन को दर्शाता है। भाजपा देश मचे आर्थिक त्राहिमाम व बेरोजगारी के मुद्दे से जनता का ध्यान भटकाना चाहती है। काँग्रेस पार्टी का एक एक कार्यकर्ता भजपा की इस ओछी राजनीति का जवाब देगा।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

Don`t copy text!