MP Fraud Case: भस्मारती के लिए उप राष्ट्रपति का बन गया सलाहकार

Share

भाई और दोस्त के साथ धार्मिक यात्रा में निकला था मुख्य आरोपी, नेपाल के उप राष्ट्रपति के नाम की धौंस देना पड़ा महंगा

MP Fraud Case
बहरुपिए पर केन्द्रीत सांकेतिक चित्र

उज्जैन। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh News) की धार्मिक नगरी भगवान महाकाल (Bhagvan Mahakal) की वजह से देश—विदेश में प्रसिद्ध है। यहां होने वाली भस्मारती (Bhasmaaarti) काफी चर्चित है जिसमें शामिल होने के लिए लोग ऐड़ी चोटी का जोर लगाते हैं। लेकिन, तीन व्यक्तियों ने यह जोर गलत तरीके (MP Fraud Case) से लगा दिया। उन्हें उज्जैन पुलिस ने हिरासत में ले लिया है। आरोपियों ने नेपाल (Nepal) के उप राष्ट्रपति का सलाहकार (Nepal Vice President Advisor) बनकर अफसरों को धौंस दिखाई थी। हालांकि इस मामले में उज्जैन (Ujjain Crime) एसपी सचिन अतुलकर (SP Sachin Atulkar) की तरफ से आधिकारिक बयान आना अभी बाकी है।

सूत्रों के अनुसार घटना उज्जैन (Ujjain Crime News) जिले के माधव नगर थाना क्षेत्र की है। आरोपियों ने सरकारी गेस्ट हाउस में जगह पाने और भस्मारती में वीआईपी कोटा पाने के लिए ऐसा किया है यह कबूला है। पुलिस की टीम आरोपियों से पूछताछ कर रही है। आरोपियों ने उज्जैन महाकाल प्रबंधन से कहा था कि वे नेपाल के उप राष्ट्रपति नंद बहादुर पून (Nand Bahadur Pun) के सलाहकार हैं। वे उज्जैन में महाकाल के दर्शन करना चाहते हैं। उनके इंतजाम किए जाए। नाम सुनने के बाद प्रबंधन ने अपने स्तर पर पड़ताल की तो वे फर्जी प्रतीत हुए। जिसके बाद इस संबंध में खबर उज्जैन (Ujjain Fraud Case) पुलिस को दी गई। पुलिस ने तीनों आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। आरोपी जयपुर (Jaipur) शहर के रहने वाले हैं। एक आरोपी का नाम महावीर प्रसाद (Mahavir Prasad) बताया जा रहा है। उसका भाई प्रमोद शर्मा (Pramod Sharma) और दूसरे दोस्त का नाम कुलदीप शर्मा (Kuldeep Sharma) बताया जा रहा है। महावीर प्रसाद ने अपने आपको नेपाल के उप राष्ट्रपति का सलाहकार (Nepal Vice President ) बताया था। माधव एनजीओ संचालक है जबकि उसका भाई प्लास्टिक की फैक्ट्री चलाता है। एक अन्य आरोपी पेशे से वकालत का काम करते हैं। पुलिस को प्राथमिक जांच में पता चला है कि आरोपियों ने इसी तरह का रसूख दिखाकर बगलामुखी मंदिर में वीआईपी कोटे से दर्शन किए थे।
अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation: दोस्त के साथ सोते हुए देखना चाहते हैं
Don`t copy text!