Bhopal News: राजश्री गुटखा कारखाने पहुंचे रिपोर्टरों पर हमला

Share

Bhopal News: कायपान पान कंपनी में आने—जाने वाले वाहनों की रिकॉर्डिंग करने से रोका गया

Bhopal News
अशोका गार्डन स्थित कायपान पान इंडस्ट्रीज (राजश्री गुटखा) का कारखाना, जहां उसकी पहचान तलाशने में ही वक्त लग जाता है। File Photo

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal News) अशोका गार्डन इलाके से मिल रही है। यहां राजश्री गुटखा बनाने वाले कारखाने के कवरेज के दौरान विवाद की स्थिति बन गई। जिसके बाद कंपनी के कर्मचारियों ने कवरेज कर रहे लोगों से मारपीट की। समाचार पत्र के लिए रिपोर्ट कर रहे व्यक्ति को चोट भी आई है। इस मामले में अज्ञात व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। रिपोर्टिंग को लेकर राजश्री गुटखा कंपनी ने भी पक्ष रखा है। लेकिन, वह आधिकारिक रुप से नहीं बोला गया है।

कई अन्य भी साथ में थे

अशोका गार्डन पुलिस के अनुसार 17 अगस्त की शाम लगभग पांच बजे धारा 294/323/506 (गाली—गलौज, मारपीट और धमकाने) का मुकदमा दर्ज है। शिकायत यूनिस खान (Yunis Khan) ने दर्ज कराई है। वे एक समाचार पत्र के संपादक हैं। जांच एसआई मनोज दुबे (SI Manoj Dubey) कर रहे हैं। यूनिस खान राजश्री गुटखा कंपनी के सामने कवरेज करने गए थे। वे फैक्ट्री में आने और जाने वाले वाहनों का वीडियो बना रहे थे। इसको लेकर राजश्री गुटखा कंपनी के कर्मचारियों ने रोका तो वहां विवाद की स्थिति बन गई। पुलिस सूत्रों ने बताया यूनिस खान के साथ वहां कई अन्य भी थे। मारपीट करने वाला आरोपी अज्ञात है। कंपनी की तरफ से कुछ व्यक्तियों से यह संदेश चलाया गया कि विज्ञापन दबाव बनाने रिपोर्टिंग की जा रही थी। इस कंपनी में छापे के बाद संदिग्ध आग भी लगी थी। इस मामले को भी आज तक दबाकर रखा गया है। 

यह भी पढ़ें:   Aurangabad Train Accident: पटरी पर सो रहे मजदूरों पर मालगाड़ी चढ़ी

गुटखा कंपनी कई दिनों से है विवादों में

Bhopal News
टैक्स चोरी के मामले में ईओडब्ल्यू की तरफ से राजश्री कारखाने में मारे गए छापे के दौरान का फाइल फोटो

राजश्री गुटखा कंपनी पहले से विवादों में रही है। कमलनाथ (EX CM Kamalnath) सरकार में इस कंपनी में छापा भी मारा गया था। कंपनी टैक्स चोरी कर रही थी। यह मामला भाजपा सरकार आने के बाद फाइलों में दबा हुआ है। कायपान नाम से कारोबार करने वाली कंपनी उत्पादन कम दिखाकर टैक्स चोरी कर रही थी। कंपनी को राजनीतिक संरक्षण भी प्राप्त है। दरअसल, उसने कई नेताओं को अपनी कंपनी की डिस्ट्रीब्यूटरशिप दी है। कुछ ब्यूरोक्रेसी के रिश्तेदार भी कंपनी के डिस्ट्रीब्यूटर बने हुए हैं। इसलिए सभी जगह से राजश्री गुटखा कंपनी को रियायत मिलने के आरोप लगते रहे हैं। लॉक डाउन के दौरान इस कंपनी के गुटखे चार गुना कीमतों में बिके थे। यह कालाबाजारी कंपनी के कुछ चुनिंदा व्यक्ति की मदद से हुई थी।

यह भी पढ़ें: राजश्री गुटखा मालिक शशिकांत चौरसिया के ठिकानों पर 18 विभागों ने की थी कार्रवाई, कागज दबे है या दबाए गए हैं

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!