‘आइटम’ पर जवाब से संतुष्ट नहीं चुनाव आयोग, कमलनाथ से छीना स्टार प्रचारक का दर्जा

Share

दो अन्य बयानों पर भी चुनाव आयोग ने ली आपत्ति, सुप्रीम कोर्ट जाएगी कांग्रेस

विधायक कुणाल चौधरी बोले- जनता के स्टार है कमलनाथ

Kamalnath
फाइल फोटो

भोपाल। चुनाव आयोग (Election Commission) ने विवादित बयानों को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) के खिलाफ कार्रवाई की है। चुनाव आयोग ने कमलनाथ का स्टार प्रचारक (Star Campaigner) का दर्जा छीन लिया है। आइटम वाले बयान के साथ-साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ दिए गए बयानों पर भी चुनाव आयोग ने आपत्ति ली है। चुनाव आयोग ने कमलनाथ के बयानों को आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना है।

आईटम पर आपत्ति

कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने डबरा में कांग्रेस प्रत्याशी के पक्ष में आमसभा को संबोधित करते हुए आईटम शब्द का इस्तेमाल किया था। भाजपा का आरोप था कि कमलनाथ ने कैबिनेट मंत्री इमरती देवी के लिए आईटम शब्द का इस्तेमाल किया है। लिहाजा भाजपा ने इसकी शिकायत चुनाव आयोग से की थी। जिसके बाद आयोग ने 21 अक्टूबर को कमलनाथ को नोटिस जारी कर जवाब मांगा था।

संतुष्ट नहीं चुनाव आयोग

22 अक्टूबर को कमलनाथ की तरफ से चुनाव आयोग को जबाव पेश किया गया। लेकिन चुनाव आयोग उनके जबाब से संतुष्ट नहीं हुआ। लिहाजा आयोग ने 27 अक्टूबर को माना कि कमलनाथ ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन किया है।

दो अन्य बयान

कमलनाथ ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के खिलाफ भी ऐसे दो बयान दिए है। जिनकी शिकायत चुनाव आयोग से की गई थी। कमलनाथ ने कहा था कि ‘शिवराज नौटंकी के कलाकार, मुंबई जाकर एक्टिंग करें’ । दूसरे बयान में कमलनाथ ने कहा था कि ‘आपके भगवान तो माफिया हैं जिससे आपने मध्यप्रदेश की पहचान बनाई आपके भगवान तो मिलावटखोर हैं’। इन दो बयानों को भी चुनाव आयोग ने आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case: डिप्टी रेंजर की बेटी से बलात्कार

अब ये होगा

चुनाव आयोग ने कमलनाथ के खिलाफ कार्यवाही करते हुए उनका स्टार प्रचारक का दर्जा छीन लिया है। जिसके बाद अब वें किसी भई जगह प्रचार करने जाएंगे तो उनके घूमने, फिरने, रहने-खाने समेत तमाम खर्चे उक्त प्रत्याशी के चुनावी खर्च में जोड़ दिए जाएंगे।

कमलनाथ का ट्वीट

चुनाव आयोग के फैसले के बाद कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि- अब जनता फ़ैसला करेगी। मेरी आवाज़ को रोकने का, दबाने का प्रयास है। कांग्रेस की आवाज़ को कुचलने का प्रयास है। सत्य को परेशान किया जा सकता है, पराजित नहीं। जनता सच्चाई का साथ देगी।

सुप्रीम कोर्ट जाएगी कांग्रेस

चुनाव आयोग के फैसले के खिलाफ कांग्रेस ने सुप्रीम कोर्ट जाने की बात कही है। कांग्रेस का आरोप है कि सत्ताधारी दल के इशारे पर चुनाव आयोग ने कार्यवाही की है। चुनाव आयोग भेदभावपूर्ण कार्यवाही कर रहा है। प्रवक्ता नरेंद्र सलूजा ने कहा कि खरीद-फरोख्त से भी पेट नहीं भरा, सौदेबाजी से मन नहीं भरा तो अब सभाओं में उमड़ रही हजारों की भीड़ से घबराकर एक और षड़यंत्र रच दिया। शिवराज जी, नरेंद्र तोमर, इमरती देवी, कैलाश विजयवर्गीय, गिर्राज दंड़ोतिया, बिसाहूलाल सिंह के बयान कितने मर्यादित थे? निष्पक्षता पर संदेह ? वहीं कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने कहा कि कमलनाथ तो जनता के स्टार है।

यह भी पढ़ेंः फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ भोपाल में प्रदर्शन, मुख्यमंत्री नाराज

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!