Bhopal Suspicious Death: मर्ग नंबर 18 ने खोली गुमशुदगी 129 की पोल

Share

Bhopal Suspicious Death: होटल के कमरा नंबर 101 में मिली थी तीन दिन पहले गायब युवक की लाश

Bhopal Suspicious Death
सांकेतिक चित्र

भोपाल। जब तक जिंदा था तब तक थाने ने कोई सुध नहीं ली। परिवार पुलिस थाने में मदद मांगने भी पहुंचा था। मदद के नाम पर गुमशुदगी का आवेदन ले लिया। लेकिन, दर्ज नहीं किया गया। पुलिस को यकीन था कि कोई बालिग गुम कैसे हो सकता है। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Suspicious Death) की है। पुलिस को अपनी गलती का अहसास हुआ। जब हुआ तब तक देर हो चुकी थी। आनन—फानन में गलती पर पर्दा डाला जाने लगा। पुलिस का दावा है कि मौत अभी पहेली है। होटल स्टाफ और जिस व्यक्ति की लाश मिली है उसके मोबाइल कॉल डिटेल से राज निकाला जाएगा।

होटल से पहले रात कहा गुजारी

मंगलवारा थाना पुलिस ने बताया मोहम्मद इमरान (Mohhmmed Imran)पिता स्वर्गीय सफवान उम्र 50 साल ने पुलिस को सूचना दी थी। उसने बताया वह कबीटपुरा थाना शाहजहांनाबाद का रहने वाला है। वह इंटरनेशनल होटल (Hotel International) में मैनेजर है। इमरान ने बताया 28 अक्टूबर की रात दो बजे मुकेश साहू पिता राधे किशन उम्र 38 साल निवासी पारस नगर करोंद होटल में आया। उसने आकर बोला उसके घर वाले बाहर गए हैं। घर में ताला है चाबी भी नहीं है। इसलिए उसे होटल में रूकने के लिए कमरा चाहिए। होटल की सारी फॉर्मेलिटी पूरी करके मुकेश (Mukesh Sahu Death) को कमरा नंबर 101 में ठहरा दिया गया। लेकिन, वह एक दिन पहले कहा था यह रहस्य है।

लापता की दर्ज नहीं थी रिपोर्ट

Bhopal Suspicious Death
सांकेतिक चित्र

इमरान ने बताया दूसरे दिन सुबह नौ बजे मुकेश के कमरे में चाय—नाश्ता पूछने पहुंचा था। खटखटाने पर मुकेश ने जब दरवाजा नहीं खोला तो इमरान ने मंगलवारा पुलिस को सूचना दी। पुलिस के सामने डुप्लीकेट चाबी से दरवाजा खोला गया। भीतर मुकेश पटेल उर्फ बल्लू चित हालत में फर्श पर पड़ा (Bhopal Hotel Room Body Found) था। उसे अस्पताल पहुंचाया गया। डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने होटल में लिखाए गए पते पर संपर्क किया। पता चला मुकेश 26 अक्टूबर से लापता है। मंगलवारा पुलिस ने निशातपुरा पुलिस से संपर्क किया। जिसके बाद निशातपुरा पुलिस ने मुकेश की गुमशुदगी दर्ज कर ली।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cheating Case: फर्जी बैंक मैनेजर हुआ गिरफ्तार

यह भी पढ़ें: इस कथित आईपीएस अफसर को ध्यान से देख लीजिए, आपके आस—पास भी हो सकता, बाद में पछताने से कोई नहीं होगा फायदा

दूध गरम करते समय झुलसा

मंगलवारा पुलिस ने मुकेश की मौत के मामले में मर्ग गुरूवार सुबह 11 बजे दर्ज किया है। शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया गया है। पीएम रिपोर्ट के बाद मौत का खुलासा पुलिस करेगी। इधर, मनीष महार पिता बब्लू उम्र 27 साल निवासी पतंजलि बीडीए कॉलोनी में रहता था। मनीष (Manish Mahar) की तीन साल पहले शादी हुई थी। उसकी दो साल की बच्ची भी है। एक हफ्ते पहले 23 अक्टूबर को मनीष घर के किचन में दूध गरम कर रहा था। अचानक आग लग गई और वह झुलस गया। उसको श्रृद्धा अस्पताल (Sharadha Hospital) में भर्ती करना पड़ा।

छह दिन बाद तोड़ा दम

जांच अधिकारी एएसआई राकेश शर्मा (ASI Rakesh Sharma) ने बताया मनीष गैस पर दूध गरम करने गया था। गैस के पाईप से गैस लीक हो रही थी। उसने ध्यान नहीं दिया और लाईटर जलाते ही आग भड़क गई। आग में उसकी पत्नी शीतल भी झुलस गई थी। मनीष की छाती पैर और चेहरा झुलसा था। जबकी पत्नी शीतल के पैर झुलसे थे। दोनों को इलाज चल रहा था। गुरूवार रात आठ बजे डॉक्टरों ने मनीष को मृत घोषित कर दिया। पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!