Bhopal Cheating News: बिना टैक्स जमा किए दौड़ रहे थे दिलीप बिल्डकॉन के वाहन

Share

Bhopal Cheating News: तीन कर्मचारियों के खिलाफ धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज

Bhopal Cheating News
File Image Courtesy

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में दिलीप बिल्डकॉन (Dilip Buildcon) के तीन कर्मचारियों ने 62 लाख रुपए का कथित बड़ा घोटाला किया है। कंपनी का दावा है कि इस घोटाले (Bhopal Cheating News) की भनक कंपनी को बिलकुल नहीं थी। सुराग तब मिला जब एक टोल नाके पर बिना परमिट चल रहा वाहन पकड़ाया। मामला दिलीप बिल्डकॉन की बिना टैक्स चुकाए चल रहे वाहनों से जुड़ा है।

दो आरोपियों को हिरासत में लिया गया

चूना भट्टी थाना पुलिस के अनुसार यह मुकदमा दिलीप बिल्डकॉन कंपनी के असिस्टेंट मैनेजर कन्हैयालाल वर्मा पिता गंगाराम वर्मा उम्र 47 साल ने दर्ज कराया है। इस मामले के आरोपी आशुतोष चतुर्वेदी (Ashutosh Chaturvedi), शिवांश कुमार और प्रणयाकांत झा है। पुलिस ने यह प्रकरण 12 मार्च की रात लगभग 10 बजे दर्ज किया गया है। इसमें धारा 420/467/168/471/120बी (जालसाजी, दस्तावेजों की कूटरचना, कर्मचारी का गलत काम में लिप्त होना, दस्तावेजों का गलत इस्तेमाल और साजिश रचने) का प्रकरण दर्ज हुआ है। पुलिस ने दो आरोपियों को हिरासत में ले लिया है। पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है। ताकि फर्जीवाड़े की तह में जाकर सच्चाई का पता लगाया जा सके।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के इस एसीपी की वर्दी वाली तस्वीर की कहानी जिसको भोपाल के लोग आसानी से भूल नहीं पाए

ऐसे हुआ फर्जीवाड़ा

असिस्टेंट मैनेजर कन्हैया लाल वर्मा (Kanhaiyalal Verma) ने बताया कि दिलीप बिल्डकॉन का चूना भट्टी इलाके में दफ्तर है। उनका एक प्रोजेक्ट विजयवाड़ा में चल रहा था। इसके लिए 182 वाहन लगे थे। यह वाहन डंपर, पिकअप, जीप समेत अन्य थे। इन वाहनों का टैक्स लगभग 62 लाख रुपए जमा किया गया था। प्रोजेक्ट में शाहपुरा स्थित महिन्द्रा सिटी निवासी आशुतोष चतुर्वेदी एचओडी थे। जबकि विजयवाड़ा निवासी शिवांश कुमार (Shivansh Kumar) साइट के प्रभारी थे। आरोपी प्रणयाकांत झा (Pranyakant Jha) लालघाटी में रहता है। आरोपी कंपनी से पैसा लेकर जाली रसीद भेज रहे थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation Case: बाइक सवारों ने की अभद्रता

यह बोलकर बचाव किया

Bhopal Cheating News
सांकेतिक चित्र साभार

चूना भट्टी थाना पुलिस का दावा है कि मामला जालसाजी से जुड़ा है। आरोपियों ने फर्जी रसीदें दी थी। यह फर्जीवाड़ा तब पता चला जब टोल नाके पर आरटीओ की चैकिंग में दिलीप बिल्डकॉन (Dilip Buildcon Employee Fraud News) का एक वाहन पकड़ाया। उसका टैक्स जमा नहीं था। फिर पड़ताल में यह फर्जीवाड़ा सामने आया है। पुलिस अन्य कर्मचारियों की भूमिका का पता लगा रही है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 और 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!