Bhopal Suspicious Death:  मौज के लिए वियाग्रा का ले लिया हैवी डोज

Share

Bhopal Suspicious Death: पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंपा, पीएम रिपोर्ट में होगा मौत का खुलासा

Bhopal Suspicious Death
File Image

भोपाल। मौज के लिए वियाग्रा का हैवी डोज लेने से एक युवक की मौत हो गई। घटना मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Suspicious Death) के पिपलानी इलाके की है। पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया गया है। पीएम रिपोर्ट के बाद पुलिस जांच की दिशा तय करेगी।

प्रायवेट जॉब करता था युवक

पिपलानी थाना पुलिस ने बताया बाबू मीणा पिता श्यामलाल उम्र 25 साल की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हुई है। मौत की सूचना पुलिस को आनंद नगर स्थित गायत्री अस्पताल (Gaytri Hospital) से गुरूवार सुबह साढ़े पांच बजे नोट कराई गई थी। मौके पर पहुंची पुलिस ने बताया बाबू (Babu Meena Death Case) पटेल नगर का रहने वाला था। वह फूल-माला बेचने का काम करता था। उसकी पांच-छह तारीख से तबीयत खराब थी। उसके पेट में दर्द हो रहा था। पेट दर्द के कारण वह खाना नहीं खा पा रहा था।

गोली खाने से भी नहीं मिला आराम

पुलिस ने बताया बाबू ने मेडिकल से पेट दर्द की गोली खरीदी थी। उसे खाने के बाद एक दिन उसको आराम मिला था। फिर अचानक 9 दिसंबर को उसकी तबीयत खराब हो गई थी। जिसके बाद परिजनों ने उसे गायत्री अस्पताल में भर्ती कराया था। इलाज के दौरान अस्पताल में उसकी मौत हो गई। परिजनों के बयान लिए तो मृतक के भाई ने बताया कि उसने अधिक मात्रा में वियाग्रा की गोली खाई थी। इसी गोली खाने के बाद तबीयत बिगड़ गई थी।

यह भी पढ़ें:   Jabalpur Cheating Case : ट्रांसपोर्टर ने कबाड़ी को बेच दिए ट्रक

यह भी पढ़ें: दिल्ली का यह एसीपी जिसकी भोपाल पुलिस बिना एफआईआर गुपचुप कर रही है तलाश, जानिए क्यों

यह होता है गोली से नुकसान

वियाग्रा गोली के साइड इफेक्ट पर डॉक्टर पवन वर्मा (Doctor Pavan Verma) से चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि वियाग्रा की गोली में एक स्लाईड़ नाम का ड्रग होता है। उससे व्यक्ति के शरीर में उत्तेजना होती हे। मासपेशियां में काफी तनाव होता है। उस अवस्था में व्यक्ति ने अपनी उत्तेजना शांत नहीं की तो उसके शरीर की मासपेशियों में सूजन आती है। इस कारण खून के थक्के (Viagra Tablet Effect) जमने का खतरा बढ़ जाता है। इसमें व्यक्ति की मौत होना भी संभव है। डॉक्टर पवन वर्मा ने कहा मेरी सलाह है कि इस प्रकार के उत्पादों के इस्तेमाल से पहले डॉक्टर से मशविरा लेना चाहिए।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!