Supreme Court News: बोलने की आजादी से रोकने का कानून

Share

Supreme Court News: दो सदस्यीय खंडपीठ ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव से तीन सप्ताह के भीतर में मांगा जवाब

Supreme Court News
सु्प्रीम कोर्ट का फाइल फोटो

भोपाल/दिल्ली। बोलने की आजादी को रोकने के लिए बने एक कानून को लेकर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court News) की डबल बेंच ने महत्वपूर्ण फैसला सुनाया है। मामला सूचना प्रौद्योगिकी कानून के तहत बनी एक धारा से जुड़ा है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव से तीन सप्ताह के भीतर जवाब देने के लिए कहा है। यह आदेश नाराजगी के साथ जारी हुआ है। मतलब साफ है कि अगली तारीख में किसी न किसी राज्य को इस लापरवाही का खामियाजा भुगतना पड़ सकता है।

सात साल पहले बना कानून

मीडिया में आई रिपोर्ट के अनुसार चीफ जस्टिस यूयू ललित और जस्टिस एस. रविन्द्र भट की डबल बैंक में धारा 66-ए को लेकर याचिका लगी थी। यह धारा सूचना प्रौद्योगिकी को लेकर है। जिसमें सोशल मीडिया अथवा खुले मंच पर कोई विवादित टिप्पणी करने पर इसे पुलिस लगाती थी। कई पेशियों के बाद सुप्रीम कोर्ट की बेंच ने इस धारा को बोलने की आजादी से रोकने वाला कानून माना था। धारा को मानव के संवैधानिक अधिकारों पर अंकुश करार देते हुए इस प्रकरण में मामला न बनाने का आदेश दिया था। इसके बावजूद कई राज्यों में 66-ए के तहत मुकदमे दर्ज किए थे। जिस कारण अदालत में कई अशासकीय संगठनों ने याचिका लगाई थी। जिसकी सुनवाई के बाद अदालत ने सभी राज्यों के मुख्य सचिव से तीन सप्ताह के भीतर में जवाब देने के लिए कहा है। यह कानून 2015 में बना था। इस धारा 66-ए के तहत मध्यप्रदेश समेत कई अन्य राज्यों में अभी भी प्रकरण दर्ज किए जा रहे हैं।

यह भी पढ़िएः तीन सौ रूपए का बिल जमा नहीं करने पर बिजली काटने के लिए आने वाला अमला, लेकिन करोड़ों रूपए के लोन पर खामोश सिस्टम और सरकार का कड़वा सच

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Supreme Court News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: ऑटो एम्बुलेंस चलाने वाले जावेद खान का मोबाइल चोरी
Don`t copy text!