Bhopal News: सड़क दुर्घटना में सिपाही की दर्दनाक मौत

Share

Bhopal News: समन तामिल करने थाने से निकला था आरक्षक, शव पीएम के बाद परिजनों को सौंपा

Bhopal News
सड़क दुर्घटना में मृत कांस्टेबल ऋषिकेश गुर्जर

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज सुखी सेवनिया थाना क्षेत्र से मिल रही है। यहां भोपाल पुलिस में तैनात एक आरक्षक की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है। वह समन तामिल करने थाने से निकला था। तभी तेज रफ्तार वाहन की चपेट में आ गया। जिस वाहन ने टक्कर मारी उसके बारे में पुलिस जानकारी जुटा रही है। इसके लिए घटनास्थल के आस—पास लगे सीसीटीवी खंगाले जा रहे हैं। पुलिस का दावा है वह जल्द ही टक्कर मारने वाले वाहन का पता लगा लेगी। फिलहाल शव पीएम के बाद परिजनों के सौंप दिया है।

गांव में होगी अंत्येष्टि

सुखी सेवनिया थाना पुलिस को बुधवार—गुरूवार की दरमियानी रात लगभग दो बजे पीपुल्स अस्पताल से डॉक्टर बरबड़े ने पुलिसकर्मी के मौत की सूचना दी थी। सुखी सेवनिया पुलिस मर्ग 39/21 दर्ज कर मामले की जांच कर रही है। मृतक ऋषिकेश गुर्जर पिता राजेंद्र सिंह गुर्जर उम्र 30 साल है। उनकी सड़क हादसे में जान गई है। ऋषिकेश गुर्जर मूलत: नेमदा जिला मुरैना के रहने वाले थे। यहां भोपाल के स्टेशन बजरिया क्षेत्र स्थित खुशीपुरा में रहते थे। ऋषिकेश सुखी सेवनिया थाने में सिपाही थे। परिवार में एक बेटा और एक बेटी है। बेटी का छह—सात महीने पहले ही जन्म हुआ है। घटना वाली रात 10 बजे से उनकी ड्यूटी थी। वह समन तामिल करने देर रात बाइक से अकेले निकले थे। तभी चोपड़ा कला पेट्रोल पंप के पास तेज रफ्तार वाहन ने बाइक में टक्कर मार दी। टक्कर मारने के बाद आरोपी वाहन लेकर फरार हो गया। पीएम के बाद शव परिजन उनके गांव लेकर रवाना हो गए हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case:  कर्ज और अंकों के बोझ में जानलेवा फैसला
Don`t copy text!