MP Cop Gossip: जब्त टैंकर को थाने से छोड़ने का खेल

Share

MP Cop Gossip: एसपी ने दिया है आदेश कि मकान बेचकर सरकार के खजाने में पैसा भराओ

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। मध्यप्रदेश पुलिस विभाग के भीतर कई खबरें होती है। वह कई बार खुलकर सामने नहीं आ पाती। आती है तो भी वह पूरे योजनाबद्ध तरीके से। ऐसे विषयों को द क्राइम इंफो में हर गुरुवार सुबह सात बजे प्रकाशित किया जाता है। इस विषय को एमपी कॉप गॉसिप (MP Cop Gossip) नाम से हमारी तरफ से बताया जाता है। हमारा उद्देश्य किसी को छोटा—बड़ा बताने का नहीं है। मकसद यह है कि सही खबरें जनता तक सलीके के साथ पहुंच सके।

मौखिक का उड़ रहा मखौल

एमपी के एक विंग के अफसर ने पिछले दिनों विचित्र आदेश दिया है। हालांकि यह आदेश मौखिक दिया गया है। इसलिए मैदानी कर्मचारी ज्यादा परेशान है। दरअसल, उनका आदेश है कि वे संपत्ति संबंधित अपराधों में गिरफ्तार होने वाले व्यक्तियों का सबक सिखाया जाए। ऐसा करने के लिए उनकी संपत्ति को बेचकर रिकवरी की जाए। ऐसा नहीं करने वालों पर एक्शन की चेतावनी दी गई है। यह बहुत मुश्किल काम है जिसको पूरा न कर पाने वाले मैदानी कर्मचारी परेशान है। यह अफसर महकमे में ‘चौधरी’ कहकर इन दिनों पुकारे जा रहे है। आपको बता दें कि इन अफसर के कांग्रेस पार्टी से खून के रिश्ते भी हैं।

थाने के एक कामयाब ‘संजय’

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

महाभारत में धृतराष्ट्र को रण भूमि की पूरी कहानी संजय ने बताई थी। कृष्ण ने अर्जुन को क्या उपदेश दिया से लेकर तीर—कमान चलने का सचित्र वर्णन उन्होंने किया था। कुछ ऐसा ही भोपाल के एक थाने में चल रहा है। यहां के एक संजय थाना प्रभारी के आंख—कान बने हुए हैं। आलम यह है कि हर ताजा कमाई वाला मामला वे ही देखते हैं। बाकी जिन मामलों के नींबू के रस निचोड़ लिए गए हैं वे पुराने अफसरों को थमा दिए जाते हैं। ऐसे अफसर संजय के सामने काफी सीनियर भी है। लेकिन, व्यवस्थाएं उपर से नीचे आती है। इसलिए चुप रहकर पूरी महाभारत ईमानदार संजय देख रहे हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दफ्तर में घुसकर महिला की पिटाई

दो दर्जन से अधिक बदलेंगे

MP Cop Gossip
ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

उप चुनाव के बाद पुलिस महकमे में एक बड़ी प्रशासनिक सर्जरी की जा रही है। इसमें दो दर्जन से अधिक अफसरों की जिम्मेदारियां बदलना तय है। कुछ ऐसे भी अफसर सक्रिय हैं जो उप चुनाव के चलते हटाए गए थे। वहीं सरकार भी आने वाले पंचायत चुनाव को देखते हुए अपने गणित जमाने में जुटी है। इसी सर्जरी में भोपाल के क्राइम ब्रांच को एएसपी मिलने जा रहा है। हालांकि यह सारी कवायद पीएम विजीट के बाद होगा ऐसी चर्चा जोरों पर चल रही है।

कांग्रेस नेता के इशारे पर एफआईआर

MP Cop Gossip
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

शहर के एक थाने में पिछले दिनों ब्लैकमेलिंग की एफआईआर दर्ज हुई थी। यह एफआईआर कांग्रेस के एक बड़े नेता के इशारे (MP Cop Gossip) पर दर्ज की गई थी। यह केस दर्ज करके उत्तर प्रदेश के आगरा में स्थित एक थाने में भेजा गया था। यह प्रकरण दर्ज करने के लिए पुलिस के एक अफसर को कांग्रेस के एक बड़े नेता ने चाबी भरी थी। नेता की इसमें भीतरी चाल थी। वह एक युवती की शादी अपने परिचित से कराना चाह रहे है। जिस परिवार से यह बातचीत चल रही है वह दहेज प्रताड़ना के एक पुराने प्रकरण से परेशान चल रहा है। आपको बता दें कि यह परिवार शहर के एक बड़े अस्पताल का पार्टनर परिवार है।

खुलकर टैंकर का खेल

MP Cop Gossip
सांकेतिक चित्र

पिछले दिनों एक टैंकर से हादसा हुआ। उस हादसे की एफआईआर भी एक थाने में दर्ज हुई। पुलिस ने टैंकर जब्त किया। लेकिन, टैंकर ड्रायवर ने उसमें गैस भरी होने का कहकर उसको थाने में जब्त होने से बचा लिया। हालांकि इसके पीछे फायदे और नुकसान का गणित था। जिसके बारे में इस कार्रवाई को देख रहे एसआई को खबर थी। कहानी भीतर की यह है कि टैंकर खड़ा हो जाता तो उसके मालिक को हर घंटे 25 हजार रुपए का नुकसान होता। काफी प्रयास करके भी टैंकर मालिक चौबीस घंटे बाद ही उसको छुड़ा पाता। इसलिए मालिक ने गणित का फॉर्मूला लगाया और बिना जब्ती टैंकर की पूरी कानूनी कार्रवाई बाहर ही कर ली।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: तीन जगहों से लाखों रुपए का माल चोरी

यह भी पढ़ें: भोपाल के इस बिल्डर पर सिस्टम का ‘रियायती सैल्यूट’, परेशान हो रहे 100 से अधिक परिवार

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Cop Gossip
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!