Bhopal Cyber Fraud : दो किस्त में खाते से निकाल लिए 35 हजार रुपए

Share

Bhopal Cyber Fraud : दोस्त बनकर नेपाली मूल के सातवीं बटालियन में तैनात हवलदार से जालसाज ने गद्दारी की

Bhopal Cyber Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। इंटरनेट बैंकिंग में कोई दोस्त नहीं होता। इसमें वफादार आपका ओटीपी और पासवर्ड होता है। वह यदि आपने साझा किया समझो मुश्किल में फंसे। ऐसा ही एक मामला भोपाल (Bhopal Cyber Fraud) सिटी के टीटी नगर थाने में पहुंचा है। पीड़ित सातवीं बटालियन में तैनात हवलदार है। उसके पास एक कॉल आया था। फोन करने वाले ने उसका बेहद करीबी दोस्त का नाम लेकर उससे बातचीत की थी। बातचीत से हवलदार को यह अहसास हुआ कि वह उसका दोस्त ही है। इस कारण उसने मदद के नाम पर ओटीपी और पासवर्ड बता दिया। जिसके बाद दो किस्त में खाते से 35 हजार रुपए निकल गए।

दोस्त समझकर ओटीपी—पासवर्ड बताया

टीटी नगर पुलिस के अनुसार जालसाजी की यह घटना 15 जून की दोपहर में हुई थी। पीड़ित राजू थापा पिता स्वर्गीय मोतीलाल थापा उम्र 51 साल है। वे कमला नगर स्थित 25वीं बटालियन के स्टाफ क्वार्टर में रहते हैं। घटना के वक्त राजू थापा (Raju Thapa) जवाहर चौक अस्पताल में काम से आए हुए थे। उसी वक्त एक व्यक्ति का कॉल आया। उसने सुभाष बनकर बातचीत की। सुभाष उनका दोस्त है जिसको वह पहचानते हैं। आरोपी ने बोला कि उसको किसी से पैसे लेने है। वह फोनपे नहीं चलाते हैं। इसलिए एक व्यक्ति से उसको पेमेंट लेना है। राजू थापा ने नंबर दे दिया। जिसके बाद एक मैसेज आया लेकिन उसमें पेमेंट नहीं आया था। इसके कुछ देर बाद उसी व्यक्ति का कॉल आया जो सुभाष बनकर बातें कर रहा था। उसने कहा कि फोनपे पर पैसा अटक गया है। इसलिए वह जैसा बोल रहा है वैसा कर देना। उस व्यक्ति को दोस्त समझकर ओटीपी और पासवर्ड बता दिए। जिसके बाद उसके खाते से 30 हजार रुपए निकल गए।

एसीपी के रीडर को बताई कहानी

Bhopal Cyber Fraud
टीटी नगर थाना, जिला भोपाल— फाइल चित्र

राजू थापा के खाते से जब रकम निकली तो उसने फिर उसी नंबर पर कॉल किया। उसने कहा कि रकम जमा होने की बजाय उसके खाते से निकल गई। आरोपी जालसाज ने फिर वैसा ही करने को बोला और इस बार पांच हजार रुपए भरने के लिए बोले। इस बार फिर खाते से रकम निकल गई। इसके बाद (Bhopal Cyber Fraud) राजू थापा को शक हो गया और उन्होंने अपने दोस्त सुभाष को कॉल किया। उसने बताया कि उसे किसी व्यक्ति से पैसे नहीं लेने है। इस कारण राजू थापा को यकीन हो गया कि उसके साथ जालसाजी हुई है। फिर वह टीटी नगर थाने पहुंचे जहां उन्होंने एसीपी के रीडर से मदद मांगी। टीटी नगर पुलिस ने इस मामले में 359/22 धारा 420 (जालसाजी का प्रकरण ) दर्ज कर लिया है। अगली जांच के लिए सायबर क्राइम से दो मोबाइल नंबरों की जानकारी जुटाई जा रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: गरीब वृद्धा की हैरान करने वाली कहानी

यूक्रेन में महिला हिंसा की वह दास्तां जो दुश्मनी की वजह से रूसी सैनिकों के निशाने पर आईं

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cyber Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!