MP Post Office News: डाकघर के अधिकारी का हूटर से नहीं छूट रहा मोह

Share

MP Post Office News: दो महीने पहले हुई थी शिकायत, तब कार्रवाई की बजाय हूटर हटा लेने की दी थी जानकारी

MP Post Office News
डाकघर के प्रवर श्रेणी अधीक्षक का यह वाहन जिसमें आज भी हूटर लगा हुआ है। जबकि विभाग इसको लेकर लिखित में भ्रामक जानकारियां शिकायतकर्ता को दे रहा है।

भोपाल। डाकघर (MP Post Office News) के एक अधिकारी का अपने वाहन में हूटर लगाने का मोह नहीं छूट पा रहा है। उनके इस कदाचरण की पहले भी भोपाल में डाकघर के सहायक निदेशक से शिकायत की जा चुकी है। उस वक्त विभाग ने गलती मानते हुए जवाब दिया था कि हूटर हटा लिया गया। लेकिन, किसी तरह की विभागीय कार्रवाई नहीं की गई। जबकि प्रवर श्रेणी अधीक्षक को हूटर लगाने की पात्रता नहीं है। वहीं मोटर यान अधिनियम और परिवहन नियमों के तहत कार्रवाई का भी प्रावधान है।

एक—दूसरे का मामला बताकर टालते रहे अफसर

भोपाल के न्यू मार्केट स्थित डाकघर में तैनात यह अधिकारी सागर नीलेश शाह है। उनके खिलाफ इंदौर में रहने वाले अजय राजपूत (Ajay Rajput) ने विधिवत अप्रैल, 2022 में शिकायत की थी। शिकायत पीएमओ कार्यालय में भी हुई थी। जिस पर विभाग ने पहले शिकायत को बंद कर दिया था। जिसके खिलाफ अपील की गई तो मई, 2022 में अजय राजपूत को बताया गया कि हूटर निकालने की कार्रवाई कर दी गई है। जबकि मैदानी हकीकत यह है कि हूटर आज भी लगा हुआ है। इस संबंध में प्रतिक्रिया के लिए चीफ पोस्ट मास्टर ब़ी.सारंगी के कार्यालय में संपर्क किया गया। यहां निजी स्टाफ व्यक्तिगत मुलाकात करने का पहले दबाव डालने लगा। जब बताया गया कि शिकायत पीएमओ कार्यालय से जुड़ी बताई गई तो डायरेक्टर पवन कुमार डालमिया के कार्यालय का नंबर दे दिया गया। यहां डालमिया के स्टाफ ने बातचीत कराने की बजाय उनका सरकारी नंबर दे दिया। जिसको डालमिया ने नहीं उठाया। इधर, भोपाल पुलिस के यातायात अधिकारियों का कहना है कि राजपत्र में केंद्र और राज्य से जुड़े सरकारी कर्मचारियों के हूटर पात्रता के नियम सार्वजनिक है। यदि सड़क पर कोई अवहेलना करता पाया जाता है तो चालानी कार्रवाई होती है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: पीएचक्यू कर्मचारी के मकान में चोरी

यूक्रेन में महिला हिंसा की वह दास्तां जो दुश्मनी की वजह से रूसी सैनिकों के निशाने पर आईं

खबर के लिए ऐसे जुड़े

MP Post Office News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!