Bhopal Murder Case: मौत से पहले सीएम हेल्प लाइन में मांगी थी मदद

Share

Bhopal Murder Case: थाना प्रभारी शुरु से ही हत्या को संदिग्ध मानने से कर रहे थे इंकार, अब दो हुए गिरफ्तार

Bhopal Murder Case
गिरफ्तार आरोपी अक्कू उर्फ आकाश

भोपाल। हत्या (Bhopal Murder Case) से कुछ घंटे पहले एक व्यक्ति ने सीएम हेल्प लाइन में मदद मांगी थी। इन सभी बातों से पुलिस बेखबर थी और वह उसको हादसा मान रही थी। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Brutal Murder) की है। पुलिस को जब सीएम हेल्प लाइन (CM Help Line News) की जानकारी मिली तो पूरा मामला ही पलट गया। इस घटना के सिलसिले में दो व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया है। आरोपियों ने पुरानी रंजिश के चलते एक व्यक्ति से मारपीट की। फिर उसको झुग्गी में बंद करके आग (Bhopal Burning Alive) लगा दी थी।

थाना प्रभारी यह कहते रहे

इस मामले में शुरु से ही पुलिस का रवैया लापरवाही वाला रहा। घटना कोलार थाना क्षेत्र के गरीब नगर झुग्गी बस्ती की थी। थाना प्रभारी सुधीर अरजरिया (TI Sudhir Arjariya) का दावा था कि यह हादसा है। हत्या की बात से उन्होंने इंकार कर दिया था। लेकिन, पूरी कहानी तब ​बदली जब सीएम हेल्प लाइन की शिकायत की भनक पुलिस को लगी। पुलिस ने हत्याकांड (Kolar Murder Case) के मामले में दो आरोपियों सूरज नाथ पिता प्रभु नाथ उम्र 20 साल और अक्कू उर्फ आकाश पिता अशोक पोरपंत उम्र 21 साल को गिरफ्तार किया है। सूरज फिलहाल गेहूंखेड़ा में रहता है। लेकिन, पहले वह गरीब नगर इलाके में ही रहता था।

इसलिए उतारा मौत के घाट

Bhopal Murder Case
गिरफ्तार आरोपी सूरज नाथ

घटना की शुरुआत 26 अक्टूबर की शाम को डीमार्ट के सामने हुई मारपीट से शुरु हुई थी। इस दिन विनोद अहिरवार (Vinod Ahirwar Murder Case) का आरोपियों अक्कू उर्फ आकाश ([email protected]) और सूरज नाथ (Suraj Nath) से विवाद हुआ था। इस विवाद में विनोद अहिरवार ने दोनों को पीट दिया था। उसी रात पिटाई का बदला लेने आरोपियों ने हमला किया था। पिटाई के बाद आरोपियों ने झुग्गी में आग लगा दी थी। इससे पहले विनोद अहिरवार ने सीएम हेल्प लाइन में दोनों आरोपियों के खिलाफ शिकायत भी की थी। सूरज पेट्रोल लेकर विनोद अहिरवार के घर पहुंचा था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Rape Case: लॉक डाउन में हुआ रेप, अनलॉक में हुआ उजागर

यह भी पढ़ें: हुस्न के हेर—फेर में आए कई दूल्हे अब थाने के चक्कर काटने को मजबूर, जानिए क्यों

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!