‘15 महीने का हिसाब मांगने वाले 15 साल का हिसाब दें’

Share

ग्वालियर में गरजे कमलनाथ, सीएम शिवराज और सिंधिया पर साधा निशाना

Kamalnath Gwalior
प्रेस वार्ता करते कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ

ग्वालियर। (Gwalior) मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ (Kamalnath) ने शुक्रवार को ग्वालियर (Gwalior) में प्रेस वार्ता की। इस मौके पर कमलनाथ, शिवराज सरकार पर जमकर गरजे। सीएम शिवराज और सिंधिया पर जमकर हमला बोला। कमलनाथ ने कहा कि भाजपा उनसे 15 महीने की सरकार का हिसाब मांग रही है। लेकिन वो पहले 15 साल का हिसाब तो दें। साथ ही कमलनाथ ने ये भी बताने की कोशिश की, कि सिंधिया की वजह से ग्वालियर-चंबल, विकास में पिछड़ गया। कमलनाथ ने कहा कि ‘ग्वालियर -चंबल की राजनीति में व विकास में मैंने अभी तक ज्यादा दखल नहीं दिया पर अब परिस्थितियां बदल गई है और बदली परिस्थिति में ग्वालियर-चंबल का विकास मेरी प्राथमिकता रहेगी।हम ग्वालियर- चम्बल का सर्वांगीण विकास करेंगे’।

ग्वालियर की पहचान खो गई..

Kamalnath in Gwalior
रानी लक्ष्मीबाई की समाधिस्थल पर कमलनाथ

‘मुझे इस बात का दुख है कि आज से 50 वर्ष पहले प्रदेश की पहचान ग्वालियर से होती थी ,कोई इंदौर-भोपाल-जबलपुर की बात नहीं करता था।पिछले कुछ वर्षों में ग्वालियर-चंबल उपेक्षित क्यों रहा ? बुनियादी सुविधाए तक ग्वालियर को नहीं मिली ?  चाहे ग्वालियर की सड़को की बात करे , फ्लाईओवर की बात करे, ग्वालियर क्यों उपेक्षित रहा ? इसका ज़िम्मेदार कौन ?’

सुनिए क्या कहा कमलनाथ ने

कमलनाथ ने कहा कि  ‘यह चुनाव प्रदेश के साथ ही ग्वालियर-चंबल के भविष्य का चुनाव भी , मेरा प्रयास रहेगा कि हम ग्वालियर-चंबल में विकास कार्य में एक नया इतिहास बनाएं। आप जानते है कि मालनपुर को लेकर कितनी बड़ी- बड़ी बातें हुई , आज क्या हाल है ? जितने उद्योग लगे नहीं उतने  बंद हो गए।मालनपुर को लेकर कितनी घोषणा हुई थी ,यह तस्वीर आपके सामने है’

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: सास और ननद की यातना से तंग आकर खाया था जहर

डॉ. अंबेडकर ने भी नहीं सोचा होगा

Kamalnath
कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री, फाइल फोटो

कमलनाथ ने कहा कि- ‘हमने वोट से सरकार बनाई , उन्होंने नोट से। बाबा साहेब ने कभी सोचा नहीं होगा कि इस प्रकार की राजनीति अपने देश में होगी।सांसद-विधायक के निधन पर उपचुनाव का प्रावधान तो किया लेकिन सौदा हो जाएगा , बोली लग जाएगी और उपचुनाव होंगे , यह भी भाजपा करेगी ?’

‘आज शिवराज जी नारियल अपनी जेब में लेकर चलते है , जहां मौका मिलता है फोड़ देते हैं ,घोषणा करने लग जाते हैं , कितनी घोषणाएँ शिवराज जी ने की 15 साल में ,ग्वालियर-चंबल में कितनी घोषणाएँ की , कितनी आज तक पूरी हुई , इसकी सच्चाई जनता जानती है।’

माफियाओं से होने लगी प्रदेश की पहचान

Kamalnath
कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री, फाइल फोटो

‘आपने कभी गुजरात-केरल-तमिलनाडु का मज़दूर देखा , मध्यप्रदेश सबसे ज्यादा मजदूरों के उत्पादन वाला प्रदेश बना डाला। प्रदेश में निवेश तब आता है जब विश्वास का माहौल हो। कितनी इन्वेस्टर्स समिट हुई, लाखों करोड़ों के निवेश के वादे किए गए , दावे किए गए , कहां गया निवेश ? मध्यप्रदेश में निवेश को लेकर किसी निवेशक को विश्वास नहीं है क्योंकि भाजपा सरकार में मध्य प्रदेश की पहचान माफिया से थी , मिलावट से थी ,भ्रष्टाचार से थी।’

सीएम शिवराज को दी चुनौती

‘हमने 26 लाख किसानों का कर्ज माफ किया।मै शिवराज जी को  चुनौती देता हूं कि आमने- सामने बैठ जाये मैं आपको 26 लाख किसानों के नाम , उनके गांव का नाम , माफ़ क़र्ज़ की राशि का रेकोर्ड देने को तैयार हूँ।शिवराज जी झूठ की राजनीति बहुत हो गई ,अब यह चलने वाली नहीं है।मोदी जी के 20 लाख करोड़ में से किसी को 20 रुपये भी मिले क्या ?’

यह भी पढ़ें:   मध्यप्रदेश : भूकंप के झटकों से दहशत, प्रशासन अलर्ट

सिंधिया पर निशाना

कमलनाथ ने कहा कि – जो कह रहे है कि उन्हें सीएम नहीं बनाया तो यह सभी जानते है कि विधायकों ने किसे अपना नेता चुना और किसे मात्र 18 वोट मिले ? कौन सौदागर है , किसने सौदा किया , यह भी सभी जानते है।

यह भी पढ़ेंः मंत्री इमरती देवी ने बताया चुनावी गणित, भाजपा को 8 सीटें चाहिए, इतनी तो कलेक्टर जितवा देंगे, देखें वीडियो

Don`t copy text!