Bhopal Attack On Cop: गर्म चाय पुलिस पर फेंकी, दुकान बंद कराने पहुंची थी टीम

Share

Bhopal Attack On Cop: एफआईआर के बाद आरोपी परिवार ने वीडियो वायरल करके बेगुनाह होने का दावा किया

Bhopal Attack On Cop
जहीर के परिजन जिनका दावा है कि दिखा रही चोट पुलिस ने उन्हें दी है

भोपाल। मध्य प्रदेश में कोरोना की लहर बहुत तेजी से फैली हुई है। इसलिए प्रतिदिन रात नौ बजे के बाद शहर में कर्फ्यू लगता है। इसी आदेश को हवा में भोपाल (Bhopal Attack On Cop) शहर के हनुमानगंज इलाके में एक चाय वाला उड़ा रहा था। उसे दुकान बंद करने के लिए बोला गया तो दुकानदार ने गर्म चाय पुलिस टीम पर फेंक दी। इसके बाद पुलिस ने भी चाय वाले को नहीं बख्शा। मौके पर तीन थानों की पुलिस बुला ली गई। पुलिस ने इस मामले में कई धाराओं में प्रकरण दर्ज किया है।

रात ग्यारह बजे खुली थी दुकान

हनुमानगंज थाना प्रभारी महेंद्र सिंह (TI Mahendra Singh) के अनुसार काजीकैम्प इलाके में जहीर चाय वाले की दुकान खुली होने की सूचना पुलिस को मिली थी। इसलिए वहां पर थाने से एएसआई अरविंद जाट (ASI Arvind Jat), हवलदार लोकेश जोशी और ​कांस्टेबल सुजान मीना को दुकान बंद कराने के लिए भेजा गया था। लेकिन, जहीर ने केतली में रखी गर्म चाय पुलिस टीम पर फेंक दी। इतना ही नहीं पार्टी के साथ जहीर और उसकी दुकान में काम करने वाले कर्मचारियों ने झूमाझटकी भी की। इस घटना में पुलिस ने धारा 294/323/353/332/147/148/149 के तहत मुकदमा दर्ज किया है। आरोपी जहीर के अलावा शेख अदनान, रमजानी, इमरान, दानिश, समीर, इमरान, साजिद, सलमान, सावेज, अयूब, कल्लू, नूसरत, उजमा और शाहनूर को बनाया गया है।

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के लिए पुलिस ने नेता जी को घर से निकलने ही नहीं दिया, नजरबंद नेता ने जब कैमरे में बोला तो यह हाल हुआ

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation News:  महिला वकील की आधी रात हाॅन बजाकर नींद खुलवाई

डंडे की चोट अंदरुनी होती है

Bhopal Attack On Cop
फाइल फोटो

इधर, परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने ग्राहकों के साथ अभद्रता की थी। रोका गया तो हमला किया गया। पुलिस ने जहीर का बदला लेने के लिए घर में घुसकर गदर मचाया। इसमें महिलाओं से मारपीट और बच्चों को चोटिल किया गया। इन आरोपों पर टीआई का दावा है कि यह चोट पुलिस ने नहीं दी है। आरोपी को दबोचने के दौरान महिलाएं पुलिस पर पथराव कर रही थी। हमने बच्चों या महिलाओं पर हमला नहीं किया। डंडे से चोट भीतरी आती है। जबकि वायरल वीडियो में दिख रही चोट खरोंच और गिरने से दिख रही है।

यह भी पढ़ें: इस वर्दी पहने दिल्ली के एसीपी के झांसे में न आना, वरना पूरे परिवार को पड़ेगा पछताना

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!