मेडिकल ऑफिसर ने कबूला गुनाह, महिला डॉक्टर के साथ 7 साल से चल रहा था प्रेम-प्रसंग

Share

सुनसान इलाके में मिली थी जूनियर डॉक्टर योगिता गौतम की लाश

Dr. Yogita Goutam
डॉ. योगिता गौतम, फाइल फोटो

आगरा। (Agra) आगरा में जूनियर डॉक्टर योगिता गौतम (Dr, Yogita Goutam) की हत्या का खुलासा हो गया है। पुलिस पूछताछ में हत्यारें ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। एसएन मेडिकल कॉलेज (SN Medical College) की डॉक्टर योगिता गौतम की हत्या जालौन (Jalaun) जिले के मेडिकल ऑफिसर विवेक तिवारी (Dr. Vivek Tiwari) ने की थी। दोनों के बीच लंबे समय से प्रेम-प्रसंग चल रहा था। शादी करने की बात पर विवाद हुआ था। 26 वर्षीय योगिता का शव बुधवार को बरामद किया गया था। उसके गले में चोट के निशान मिले थे।

भाई ने जताया था शक

बुधवार को डॉ योगिता गौतम का शव आगरा के डौकी इलाके में सुनसान सड़क पर मिला था। जिसके बाद शव की शिनाख्त की गई। योगिता के भाई डॉ. मोहिंदर गौतम ने जालौन के मेडिकल ऑफिसर विवेक तिवारी पर शक जताया था। योगिता मंगलवार से गायब थी। उसका फोन बंद आ रहा था, परिजन की तलाश में जब वो नहीं मिली तो गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी। योगिता और आरोपी विवेक तिवारी साथ में पढ़े थे। दोनों ने मोरादाबाद से एमबीबीएस किया था। विवेक तिवारी, योगिता का सीनियर था। एसएन मेडिकल कॉलेज से योगिता एमडी कर रही थी।

लंबे समय से चल रहा था प्रेम प्रसंग

विवेक और योगिता के बीच लगभग 7 साल से प्रेम प्रसंग चल रहा था। योगिता से मिलने के लिए विवेक जालौन से अक्सर आगरा आया करता था। मंगलवार को भी वो उससे मिलने आया था। दोनों कार में बात कर रहे थे। इसी दौरान विवाद हो गया। विवेक ने योगिता का गला दबा दिया, लेकिन उसकी सांसे चल रही थी। जिसके बाद विवेक ने चाकू से भी उसके गले पर वार किया। योगिता की मौत के बाद विवेक ने उसकी लाश को सुनसान इलाके में फेंक दिया। शव को लकड़ियों से ढ़क दिया, उसने शव को जलाने की भी कोशिश की थी।

यह भी पढ़ें:   सफदर नागौरी समेत सिमी के 10 आतंकी को शिफ्ट करने नोटिस

शक करने लगा था विवेक

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक योगिता, विवेक से शादी करना चाहती थी। वो शादी के लिए विवेक पर दवाब बना रही थी। विवेक भी शादी करने के लिए तैयार था। लेकिन वो समय चाहता था। उसका कहना था कि बहन की शादी के बाद वो योगिता से शादी कर लेगा। इसी बात को लेकर दोनों में विवाद हुआ था। जानकारी के मुताबिक शादी टालने की वजह से योगिता ने विवेक से बात करनी बंद कर दी थी। इसी कारण विवेक को योगिता पर शक होने लगा था।

यह भी पढ़ेंः 5 साल के बच्चे के सामने महिला डॉक्टर ने लगाई फांसी, कभी कभार मिलने आता था पति

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!