पीएम से सीधे टकराए केजरीवाल, फिर माफी मांगी

Share

Arvind Kejriwal Breaks Protocol: शिवराज सिंह चौहान ने भी कोसा, कोरोना प्रभावित 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ चल रही वर्चुवली मीटिंग में अरविंद केजरीवाल ने कर दी थी ऐसी चूक

Arvind Kejriwal Breaks Protocol
प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल— फाइल फोटो

दिल्ली। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal Breaks Protocol) शुक्रवार को फिर से एक गंभीर चूक कर बैठे। जिसके बाद भाजपा नेताओं ने उन्हें घेरना शुरु कर दिया। दरअसल, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी कोरोना प्रभावित 10 राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ वर्चुवली बैठक कर रहे थे। इसी बैठक को उन्होंने सीएम कार्यालय से लाइव करा दिया। इस बात पर प्रधानमंत्री ने तुरंत आपत्ति जताते हुए पूरे प्रकरण को अव्यवहारिक बताया। इधर, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी ट्वीट करके केजरीवाल को घेरा।

केजरीवाल ने सही पर तरीका गलत अपनाया

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री से आग्रह किया कि दिल्ली में ऑक्सीजन प्लांट नहीं है। दूसरे राज्यों में निर्भर रहना पड़ता है। कई राज्य टैंकर रोककर परेशानी खड़ी करते हैं। ऐसी अवस्था में दिल्ली की सरकार केंद्र में किससे संपर्क करें यह सुनिश्चित कराया जाए। इसके अलावा उन्होंने सुझाव दिया कि ऑक्सीजन प्लांट का अधिग्रहण करके सेना के जरिए उसको पहुंचाने की व्यवस्था की जानी चाहिए। यह सारी बातचीत सीएम कार्यालय से लाइव प्रसारित हो रही थी। जिसकी जानकारी प्रधानमंत्री को लगी तो उन्होंने इस पर आपत्ति जताई। उन्होंने कहा कि परंपराए रही है इन हाउस मीटिंग को लाइव न किया जाए। ऐसी स्थितियों से बचना चाहिए।

यह भी पढ़ें: दिल्ली के मुख्यमंत्री ने अपने घर की आफत इस प्रदेश को दे दी, जानिए कैसे

सीएम कार्यालय ने दी सफाई

उल्लेखनीय है कि दिल्ली में भी ऑक्सीजन की भारी किल्लत है। जिसकी वजह से वहां केंद्र और राज्य सरकार के बीच टकराव की स्थिति है। दो दिन पहले उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया का वीडियो भी वायरल हुआ था। इधर, शुक्रवार को हुई घटना के मामले अरविंद केजरीवाल कार्यालय से सफाई दी गई है। बताया गया है कि बैठक लाइव होगी अथवा नहीं इस संबंध में कोई दिशा—निर्देश नहीं मिले थे। सीएम हाउस ने घटना पर खेद भी जताया है। लेकिन, यह सब करने से पहले पूरा घटनाक्रम दिल्ली के लोगों ने लाइव देख लिया।

यह भी पढ़ें:   Article 370: जम्मू—कश्मीर में पहली बार रणवीर पैनल कोड की बजाय आईपीसी लगेगी
Don`t copy text!