Serial IED Blast की फिराक में थे नक्सली, जवानों ने नष्ट की बारूदी सुरंगे

Share

नक्सली मना रहे पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी सप्ताह, पुलिस ने भी बढ़ाई सर्चिंग

सांकेतिक फोटो

बीजापुर। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) में लगातार जारी एंटी नक्सल ऑपरेशन (Anti Naxal Operation) के तहत सोमवार को जवानों को बड़ी कामयाबी हासिल हुई। नक्सल प्रभावित बीजापुर (Bijapur) में नक्सली बड़ी वारदातों को अंजाम देने की फिराक में थे। जवानों का खून बहाने के लिए नक्सलियों ने जाल भी बिछा दिया था। नक्सली सिलसिलेवार आईईडी ब्लास्ट (Serial IED Blast) करने की फिराक में थे, लेकिन पूरी तरह सतर्क जवानों ने नक्सलियों के मंसूबों पर पानी फेर दिया। जिले में सुरक्षा बलों ने दो स्थानों से पांच बारूदी सुरंग बरामद की है। वहीं एक बारूदी सुरंग को नष्ट करने के दौरान एक जवान घायल हो गया है। बीजापुर जिले के पुलिस अधिकारियों ने सोमवार को यहां बताया कि केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (#CRPF) और जिला बल के दल ने जिले के सारकेगुड़ा और तरेम गांव के जंगल से चार बारूदी सुरंग तथा फरसेगढ़ क्षेत्र में सागमेटा गांव के जंगल से एक बारूदी सुरंग बरामद की है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि फरसेगढ़ क्षेत्र में नक्सलियों ने एक प्रेशर बम को बैनर के पीछे छुपा दिया था। सुरक्षाबलों ने जब उसे नष्ट करने की कोशिश की तब उसमें अचानक विस्फोट हो गया। इस घटना में जिला बल का जवान मड़कम सोमडु घायल हो गया।

उन्होंने बताया कि घटना के बाद जवान को वहां से बाहर निकाला गया तथा उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती कराया गया। जवान की हालत खतरे से बाहर है। अधिकारियों ने बताया कि सारकेगुड़ा और तरेम गांव के जंगल से बरामद की गई बारूदी सुरंग को नष्ट कर दिया गया है तथा क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान तेज कर दिया गया है। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पीपुल्स लिबरेशन गुरिल्ला आर्मी (PLGA) सप्ताह को देखते हुए क्षेत्र में सुरक्षा बढ़ा दी गई है। नक्सली प्रतिवर्ष दो से आठ दिसंबर के बीच पीएलजीए सप्ताह मनाते हैं तथा अपनी गतिविधियों को बढ़ा देते हैं।

यह भी पढ़ें:   Anti Naxal Operation : दंतेवाड़ा में पुलिस मुठभेड़ में मारा गया हार्डकोर नक्सली
Don`t copy text!