Anti Naxal Operation : पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में मारा गया 3 लाख का इनामी डिप्टी कमांडर

Share

सुकमा जिले में हुआ आमना-सामना, नक्सलियों ने की जवानों को निशाना बनाने की कोशिश

सांकेतिक फोटो

रायपुर। छत्तीसगढ़ के नक्सल प्रभावित सुकमा जिले में सुरक्षा बलों ने मंगलवार को मुठभेड़ (Anti Naxal Operation) में एक नक्सली डिप्टी कमांडर को मार गिराया है। राज्य के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने बताया कि सुकमा (Sukma) जिले के पुसपाल थाना क्षेत्र के अंतर्गत तुलसी डोंगरी गांव की पहाड़ी में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ में महुपदर एलओएस के डिप्टी कमांडर कोसा को मार गिराया है। कोसा के सर पर तीन लाख रूपए का इनाम था।

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि पुसपाल थाना क्षेत्र में पिछले दो दिनों से एसटीएफ, डीआरजी और जिला बल का संयुक्त दल नक्सल विरोधी अभियान में है। आज सुबह जब एसटीएफ का दल छत्तीसगढ़ और उड़ीसा की सीमा से लगे तुलसी डोंगरी गांव की पहाड़ी में था तब नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। इसके बाद सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की।

अधिकारियों ने बताया कि कुछ देर तक दोनों ओर से गोलीबारी के बाद नक्सली वहां से फरार हो गए। बाद में जब सुरक्षा बलों ने घटनास्थल की तलाशी ली तब वहां से एक नक्सली का शव, एक पिस्टल, बारूदी सुरंग और अन्य सामान बरामद किया गया। मृत माओवादी की पहचान दरभा डिविजन के अंतर्गत महुपदर एलओएस के डिप्टी कमांडर कोसा के रूप में की गई है।

उन्होंने बताया कि क्षेत्र में नक्सलियों के खिलाफ अभियान जारी है तथा इस संबंध में अधिक जानकारी ली जा रही है।

यह भी पढ़ें:   छत्तीसगढ़ पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, 9 नक्सली गिरफ्तार
Don`t copy text!