Video : टेस्टिंग के दौरान गिरी 70 टन वजनी क्रेन, 11 लोगों की मौत

Share

मुंबई की कंपनी ने बनाई थी क्रेन, चल रही थी वेट टेस्टिंग

Visakhapatnam Crane Accident
क्रेन हादसा, विशाखापटनम

विशाखापटनम। आंध्रप्रदेश के विशाखापटनम (Visakhapatnam) में शनिवार बड़ा हादसा हो गया है। हिंदुस्तान शिपयार्ड लिमिटेड (HSL) में क्रेन के गिरने की वजह से 11 लोगों की मौत हो गई। दर्दनाक हादसे (Visakhapatnam Crane Accident) में एक युवक घायल हुआ है, जिसे अस्पताल में भर्ती कराया गया है। क्रेन को मुंबई की कंपनी अनुपम क्रेन्स (Anupam Crane Mumbai) ने दो साल पहले बनाया था। शनिवार को क्रेन की टेस्टिंग की जा रही थी। 70 टन वजनी क्रेन की क्षमता की जांच की जा रही थी। उसी दौरान ट्रेन दो हिस्सो में बंट गई और भरभराकर गिर गई। क्रेन के केबिन में मौजूद सभी लोगों की दर्दनाक मौत हो गई। घटना का वीडियो भी सामने आया है।

डीसीपी ने मीडिया को जानकारी दी

घटना के तुरंत बाद विशाखापटनम के डीसीपी सुरेश बाबू मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का मुआयना किया। सुरेश बाबू ने मीडिया को बताया कि ये घटना सुबह की है जब क्रेन से लोडिंग का ट्रायल चल रहा था। विशाखापट्टन के कलेक्टर विजय चंद ने बताया कि एसएसएल ने क्रेन को ऑपरेट करने का काम ग्रीनफील्ड नामक कंपनी को दिया था। ग्रीनफील्ड कंपनी का लीड इंजीनियर क्रेन को ऑपरेट कर रहा था। उनके साथ ऑपरेशन को मेंटेन करने वाले 7 और कर्मचारी थे।

आउटसोर्स किया था ऑपरेशन

क्रेन की केबिन में कुल 10 लोग मौजूद थे। इनमें से ग्रीनफील्ड कंपनी के 2 लीड इंजीनियर और एक कर्मचारी था। साथ ही 7 लोग और सवार थे, इनमें से 4 हिंदुस्तान शिपयार्ड के परमानेंट कर्मचारी थे। इन सभी की मौत हो गई। साथ ही एक और शख्स इस हादसे का शिकार हो गया।

यह भी पढ़ें:   बांग्लादेशी एक्टर फिरदौस अहमद को भारत छोड़ने के आदेश, गृह मंत्रालय ने रद्द किया वीजा

देखें वीडियो

हादसों का गढ़ विशाखापटनम

विशाखापटनम में कुछ महीने पहले भी एक भीषण हादसा हो चुका है। आपको बता दें कि विशाखापटनम में ही एक केमिकल फ़ैक्ट्री में गैस रिसाव की वजह से 11 लोगों की मौत हो गई थी और लगभग 300 लोगों को अलग-अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया था। केमिकल गैस का रिसाव इतना खतरनाक था कि लोग रोड में चलते हुए बेहोश होकर गिरने लगे थे। गैस तेजी से एरिया में फ़ैल गयी थी जिसकी वजह से आंखों में जलन, सांस लेने में दिक्कत, जी मचलाना और शरीर में लाल रंग के चकते भी पड़ने लगे थे।

यह भी पढ़ेंः पंजाब में जहरीली शराब पीने से मरने वालों की संख्या 62 पर पहुंची

Don`t copy text!