Rewa Bribe Case: रिश्वत लेते होमगार्ड महिलाएं गिरफ्तार

Share

शिकायत को रफा—दफा करने के लिए मांगी थी रिश्वत, प्रभारी एसपी ने महिला थाना टीआई को किया लाइन अटैच

Madhya Pradesh Lokayukta Police Trap
सांकेतिक फोटो

रीवा।  (Bhopal Crime News In Hindi)मध्य प्रदेश में बड़े शहरों को छोड़ छोटे शहरों में होमगार्ड (Rewa Home Guard Bribe Case) की मदद से थाने चल रहे हैं। यह बात लोकायुक्त पुलिस की कार्रवाई से उजागर हो गई। दरअसल, रीवा लोकायुक्त पुलिस की टीम ने रीवा महिला थाने में तैनात (Rewa Bribe Case) दो महिला होमगार्ड कांस्टेबल को रिश्वत लेते हुए दबोचा हैं। यह दोनों महिलाएं एक व्यक्ति से उसके खिलाफ हुई शिकायत को रफा—दफा करने के बदले में रिश्वत मांग रही थी। लोकायुक्त पुलिस ने आरोपियों को रीवा महिला थाने में 30 हजार रुपए लेते हुए रंगे हाथों गिरफ्तार (Rewa Crime Against Woman) कर लिया गया। यह खबर मिलने के बाद प्रभारी रीवा एसपी ने थाना प्रभारी को भी लाइन अटैच (SP Rewa Station Incharge Line Attachment) कर दिया।

यह भी पढ़ें: खंडहर का राज पुलिस को है पता लेकिन बताने से किया इंकार

जानकारी के अनुसार लोकायुक्त पुलिस से सीधी निवासी राधा साकेत पति केपी साकेत उम्र 53 साल ने शिकायत की थी। उसने पुलिस को बताया था कि उससे रिश्वत मांगी जा रही है। वह सुकवारी पोस्ट बघवारी उत्तरटोला थाना जामोंड़ी जिला सीधी की रहने वाली है। राधा के बेटे अतुल के खिलाफ थाने मेें एक शिकायत हुई थी। राधा उसी केस के बाद से ही परेशान चल रही थी। राधा की लाचारी का फायदा उठाकर महिला होमगार्ड रमा वर्मा और सुषमा तिवारी ने केस रफा—दफा करने के लिए 30 हजार रूपए मांग लिए। जिसकी शिकायत राधा ने लोकायुक्त पुलिस से की थी। लोकायुक्त पुलिस ने लेन—देन की बातचीत रिकॉर्ड की। जिसके बाद कार्रवाई की योजना बनाई गई। राधा 30 हजार रुपए देने थाने पहुंची तो लोकायुक्त पुलिस के अधिकारियों ने उन्हें रंगे हाथों पकड़ लिया। लोकायुक्त पुलिस ने दोनों होमगार्ड जवानों के खिलाफ भ्रष्टाचार निवारण के तहत प्रकरण दर्ज कर लिया। लोकायुक्त पुलिस का कहना है कि कार्रवाई की रिपोर्ट होमगार्ड एसपी को भेजी जाएगी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News: मां की संपत्ति हथियाने बनाए थे फर्जी दस्तावेज

यह भी पढ़ें: मामूली विवाद में गई यु​वक की जान

इधर, थाने में रिश्वत लेने का मामला जिला पुलिस अफसरों के पास भी पहुंचा। रीवा एसपी आबिद खान फिलहाल अवकाश पर चल रहे हैं। उनका काम अभी प्रभारी एसपी शिवकुमार वर्मा के पास है। वर्मा ने इस मामले में महिला थाना प्रभारी कल्याणी पाल को लाइन अटैच कर दिया। इसके अलावा हवलदार सुषमा तिवारी को भी लाइन अटैच कर दिया गया। दरअसल, होमगार्ड जवानों को जांच सौंपने का अधिकार नहीं था। यह कार्रवाई कल्याणी पाल और सुषमा तिवारी को करना थी। प्रभारी एसपी ने काम में लापरवाही मानते हुए दोनों को लाइन अटैच कर दिया है।

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!