MP Police News: महिलाओं से जुडे अपराधों की बारीकियां विशेषज्ञ ने बताई

Share

सुप्रीम कोर्ट ने सभी राज्यों को दिए हैं निर्देश, तीन दिनों तक सिखाई जाएगी तकनीकी जानकारी और सावधानियां

MP Police News
कार्यशाला को संबोधित करते पुलिस अधिकारी

भोपाल। (Bhopal News In Hindi) सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर सभी राज्यों में महिला अपराधों की जांच को लेकर सेमीनार आयोजित किए जा रहे हैं। इसी क्रम में मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Crime Against Woman Case) के पुलिस अधिकारियों को विशेष प्रशिक्षण दिया जा रहा हैं। जिसमें पुलिस अकादमी में चल रही मास्टर ट्रेनर्स की तीन दिवसीय (Madhya Pradesh Hindi samachar) प्रशिक्षण कार्यशाला का गुरूवार को समापन हुआ। तीसरे चरण के इस प्रशिक्षण सत्र में प्रदेश के 11 जिलों से आए 27 पुलिस अधिकारियों ने प्रशिक्षण लिया। इनमें 5 डीएसपी, 7 टीआई और 16 एसआई शामिल हुए।

यह भी पढ़ें: खंडहर का राज पुलिस को है पता लेकिन बताने से किया इंकार

जानकारी के अनुसार कार्यशाला में विषय विशेषज्ञों और यौन अपराधों की उत्‍कृष्‍ट विवेचना और वैज्ञानिक साक्ष्‍य जुटाने की प्रक्रिया बताई गई। इसमें यह बताया गया कि सर्वोच्‍च न्‍यायालय ने इस संबंध में क्या गाइड लाइन बनाई गई है। मध्‍यप्रदेश पुलिस अकादमी में प्रशिक्षण प्राप्‍त सभी मास्‍टर ट्रेनर्स अपने-अपने जिलों में पुलिस अधिकारियों को प्रशिक्षित कर रहे हैं। कार्यशाला का शुभारंभ एडीजी महिला अपराध अन्‍वेष मंगलम ने मंगलवार को किया था। मध्‍यप्रदेश पुलिस अकादमी के निदेशक केटी वाइफे के निर्देशन में तीन दिन तक चली इस कार्यशाला में विषय विशेषज्ञों ने लैंगिक अपराधों से संबंधित प्रकरणों की उत्‍कृष्‍ट विवेचना की बारीकियाँ सिखाईं। एआईजी प्रशिक्षण मलय जैन और निमिषा पाण्‍डेय, मध्‍यप्रदेश पुलिस अकादमी के एएसपी नीरज पाण्‍डेय, रश्मि पाण्‍डेय और कमल मौर्य सहित अन्‍य संबंधित अधिकारियों ने मास्‍टर ट्रेनर्स को प्रशिक्षण में योगदान दिया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: कुत्ता घुमा रही थी महिला, टोंट मारने के शक में भिड़ी

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!