कराची विमान हादसा : पाक उड्डयन मंत्री ने कहा- कोरोना वायरस की वजह से गिरा विमान

Share

Karachi Plane Crash : ओवर कॉन्फीडेंस में थे पायलट्स, एटीसी भी लापरवाह, 97 लोगों की गई थी जान

Karachi Plane Crash
हादसे की तस्वीर

इस्लामाबाद।(एजेंसी) 22 मई को कराची में हुए विमान हादसे (Karachi Plane Crash) पर पाकिस्तान (Pakistan) के मंत्री ने सनसनीखेज खुलासा किया है। पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर (Aviation Minister Ghulam Sarwar) ने पाक पार्लियामेंट (Parliament) में हादसे की रिपोर्ट पेश की। उन्होंने बताया कि कैसे कोरोना वायरस (Corona Virus) की वजह से विमान हादसा हो गया। विमानन मंत्री ने कहा कि प्लेन के पायलट कोरोना वायरस पर चर्चा (Discuss) कर रहे थे। विमान उड़ाने पर पायलट्स का ध्यान ही नहीं था। ऊपर से ओवर कॉन्फीडेंस इतना था कि एयर ट्रैफिक कंट्रोल (Air Traffic Cantrol) के सुझावों को हवा में उड़ा दिया। मंत्री ने कहा कि कराची विमान हादसा लापरवाही और अति आत्मविश्वास की वजह से हुआ। जिसमें 97 लोगों की मौत हुई।

कॉलोनी में गिरा था विमान

22 मई को पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स (Pakistan International Airlines) का विमान कराची के रिहायशी इलाके में गिर गया था। घरेलू विमान ने लाहौर से उडान भरी थी, उसे कराची के जिन्नाह इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Jinnah International Airport) पर लैंड होना था।

एयरवस ए 320 एयरक्राफ्ट में 91 यात्री और 8 क्रू मेंबर सवार थे। लेकिन एयरपोर्ट के करीब ही विमान हादसे का शिकार हो गया। लेंडिंग से ठीक पहले विमान जिन्नाह गार्डन इलाके की मॉडल कॉलोनी में गिर गया। हादसे में 97 लोगों की मौत हुई थी। विमान में सवार 2 यात्री चमत्कारिक रूप से बच गए थे।

पार्लियामेंट में पेश की रिपोर्ट

उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने हादसे पर संसद में अंतरिम रिपोर्ट पेश करते हुए कहा कि पायलट्स के ध्यान न देने और लापरवाही बरतने की वजह से हादसा हुआ। पायलट्स और एयर ट्रैफिक कंट्रोल की मानवीय गलतियों की वजह से पाकिस्तान इंटरनेशन एयरलाइंस का प्लेन हादसे का शिकार हुआ।

यह भी पढ़ें:   Donald Trump Confirms : मारा गया अल-कायदा का उत्तराधिकारी, लादेन का 15 वां बेटा था हमजा बिन

मंत्री ने बताया कि हादसे से पहले एयर ट्रैफिक कंट्रोल ने एयरक्राफ्ट की हाइट को लेकर पायलट्स को सचेत किया था। लेकिन ओवर कॉन्फीडेंस की वजह से पायलट्स ने ट्रैफिक कंट्रोलर की बात नहीं मानी। उसे हवा में उड़ाते हुए कह दिया कि हम सब मैनेज कर लेंगे।

एटीसी भी जिम्मेदार

मंत्री ने कहा कि इस हादसे के लिए पायलट्स और एयर ट्रैफिक कंट्रोल दोनों ही जिम्मेदार है। दोनों तरफ से प्रोटोकॉल को पालन नहीं किया गया। एक तरफ पायलट्स ने ट्रैफिक कंट्रोलर की बात नहीं मानी। तो दूसरी तरफ एटीसी ने पायलट्स को नहीं बताया कि विमान का इंजन टकरा गया है।

मंत्री ने कहा कि पूरी यात्रा के दौरान पायलट्स कोरोना वायरस पर ही डिस्कस कर रहे थे। फ्लाइट पर उनका ध्यान ही नहीं था। कंट्रोल टॉवर ने पायलट्स को बताया था कि विमान कम ऊंचाई पर है। ऊंचाई बढ़ाने को कहा गया था। लेकिन पायलट्स इतने ओवर कॉन्फीडेंस थे कि उन्होंने बात नहीं मानी।

एयरक्राफ्ट में नहीं थी टेक्निकल प्रॉब्लम

मंत्री सरवर ने बताया कि इस मामले में पूरी रिपोर्ट आने में 1 साल का समय लग जाएगा। हादसे के लिए जो भी जिम्मेदार होगा, उसे सजा मिलेगी। लेकिन प्राथमिक रिपोर्ट में सामने आ गया है कि एयरक्राफ्ट में कोई टेक्निकल प्रॉब्लम नहीं थी। न ही किसी टेक्निकल प्रॉब्लम के बारे में पालट्स ने एटीसी को सूचित किया था।

मंत्री ने कहा कि विमान ने लैंडिंग गियर के बिना तीन बार रनवे को छुआ, जिससे इसके इंजनों को नुकसान हुआ। “जब विमान ने फिर से उड़ान भरी, तो उसके दोनों इंजन क्षतिग्रस्त हो गए,”

यह भी पढ़ें:   आप फेसबुक यूजर नहीं, फिर भी आपका डेटा चुराता है फेसबुक

सरवर ने कहा कि उन्होंने खुद पायलट्स और एटीसी के बीच हुई बात की रिकॉर्डिंग सुनी है। मंत्री ने कहा कि विमान से उपकरण निकाले और डिकोड किए गए । उन्होंने कहा कि प्राप्त रिकॉर्डिंग को पीआईए विमान दुर्घटना की अंतिम रिपोर्ट का हिस्सा बनाया जाएगा।

फर्जी लाइसेंस पर उड़ा रहे विमान

मंत्री ने सच स्वीकार करते हुए कहा कि नेशनल एयरलाइंस के 40 फीसदी पायलट फर्जी लाइसेंस के साथ विमान उड़ा रहे है। उन्होंने कहा कि इन पायलटों ने खुद परीक्षा नहीं दी है। न ही उन्हें उड़ान का उचित अनुभव है। दुर्भाग्य है कि “पायलटों को भी राजनीतिक आधार पर नियुक्त किया जाता रहा है,

“पायलटों की नियुक्ति करते हुए, योग्यता को नजरअंदाज किया जाता है,” उन्होंने कहा कि चार पीआईए पायलटों की डिग्री नकली होने का पता चला था।

सरवर ने कहा कि सरकार दोषी पाए गए पीआईए पायलटों के खिलाफ कार्रवाई करेगी। उन्होंने कहा कि सरकार पीआईए का ‘पुनर्गठन’ करेगी और इसे अपने गौरव के दिनों में वापस ले जाएगी।

यह भी पढ़ेंः पत्नी की हत्या के बाद सास को मारने फ्लाइट से कोलकाता गया, फिर कर ली आत्महत्या

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।
Don`t copy text!