दहेज में नहीं मिली मोटरसाइकिल तो ससुराल जाकर कहा- तलाक-तलाक-तलाक, मामला दर्ज

Share

चार साल से पति से अलग रह रहीं थी महिला, 16 जुलाई को कराया मामला दर्ज

सांकेतिक फोटो

बहराइच। भारत-नेपाल सीमा के पास स्थित रूपईडीहा थाने में एक महिला ने मामला दर्ज कराकर अपने पति और ससुराल के लोगों पर आरोप लगाया है कि दहेज नहीं मिलने पर उन्होंने उसे मारपीट कर घर से निकाल दिया और पति ने ‘तीन तलाक’ दे दिया। ‘तीन तलाक’ विधेयक पास होने के बाद जिले में तीन तलाक का यह पहला मामला है।

अपर पुलिस अधीक्षक रवींद्र कुमार सिंह ने रविवार को बताया कि मुर्तिहा कोतवाली के हरखापुर की रहने वाली अफसाना का निकाह रूपईडीहा थाने के आंबा पोखर निवासी मोहम्मद आरिफ के साथ 2015 में हुआ था।

पुलिस के अनुसार, अफसाना बेगम का आरोप है कि उसके पति और ससुराल के लोग उस पर दहेज में मोटरसाइकिल के लिए 50 हजार रुपए लाने का दबाव बनाते थे, जिसे पूरा करने में असमर्थता जताने पर उसके साथ गाली-गलौज, जान से मारने की धमकी व मारपीट की जाती थी। बाद में इसी बात को लेकर गाली-गलौज कर जान से मारने की धमकी देते हुए मारपीट कर उसे ससुराल से बाहर निकाल दिया गया। करीब चार साल से वह अपने मायके में रह रही है।

शनिवार को पुलिस को दी गई तहरीर में अफसाना बेगम ने आरोप लगाया कि बीती 16 जुलाई को उसके पति मोहम्मद आरिफ ने दूसरी शादी रचा ली और 8 अगस्त को ससुराल पहुंच कर तीन बार ‘‘तलाक तलाक तलाक’’ बोलकर उसे तलाक दे डाला।

सिंह ने बताया कि पीड़िता की तहरीर पर पीड़िता के पति, सास, ससुर व ननद के खिलाफ तीन तलाक व दहेज उत्पीड़न अधिनियम तथा अन्य धाराओं तहत मामला दर्ज किया गया। आरोपी अभी फरार हैं। पुलिस मामले की जांच कर रही है और आरोपियों की तलाश जारी है।

यह भी पढ़ें:   पति-पत्नी में चल रही थी अनबन, ससुराल वालों ने दामाद को जिंदा जला दिया
Don`t copy text!