Bhopal News: ब्रिज बना रही कंपनी के लोहे का सरिया सिक्यारिेटी गार्ड पर गिरा

Share

Bhopal News: बायां पैर टूटकर हुआ जख्मी, कंपनी का संचालक इलाज और वेतन देने से मुकरा, मजदूर की शिकायत पर ठेकेदार और जेसीबी ड्रायवर के खिलाफ दर्ज हुई एफआईआर

Bhopal News
एमपी नगर थाना, जिला भोपाल — फाइल फोटो

भोपाल। मेट्रो के साथ-साथ ब्रिज का निर्माण चल रहा है। ब्रिज का निर्माण गणेश मंदिर से डीबी माॅल के बीच किया जा रहा है। जिसका ठेका एक कंपनी को दिया गया है। इसी कंपनी ने सामान की सुरक्षा के लिए सिक्योरिटी एजेंसी की सेवा ले रखी है। जिसके एक कर्मचारी पर पुल निर्माण में इस्तेमाल होने वाले भारी सरिए आकर गिर गए। यह घटना भोपाल (Bhopal News) शहर के एमपी नगर स्थित डीबी माॅल के सामने हुई थी। यह घटना पुरानी है जिसमें सिक्योरिटी एजेंसी के संचालक की तरफ से मिले आश्वासन के चलते दबी थी। लेकिन, अब पीड़ित थाने पहुंचा और उसने मुकदमा दर्ज करा दिया।

ऐसे हुआ था हादसा

एमपी नगर थाना पुलिस के अनुसार 21 सितंबर की दोपहर लगभग दो बजे 397/22 धारा 337/338 (लापरवाही से काम करते हुए आई चोट में फ्रैक्चर होने का मामला) दर्ज किया गया है। यह दुर्घटना 28 अगस्त को डीबी माॅल (DB Mall) के सामने हुई थी। शिकायत सरदार वल्लभ पटेल नगर वार्ड निवासी अश्विनी मिश्रा पिता गिरजा प्रसाद मिश्रा उम्र 46 साल ने दर्ज कराई है। इस मामले में आरोपी जेसीबी क्रेन का चालक सारिक खान और ठेकेदार मसादुल हक हैं। अश्विनी मिश्रा (Ashwini Mishra) ने बताया कि वह सुरभि सिक्योरिटी सर्विस (Surabhi Security Service) में सिक्योरिटी गार्ड की नौकरी करता है। वह गणेश मंदिर से डीबी माॅल में रखे गए उपकरणों और सामान की निगरानी करता था। वह घटना वाले दिन डीबी माॅल के सामने था। उस वक्त आरोपी सारिक खान (Sarik Khan) भारी-भारी लोहे क्रेन से उठा रहा था। तभी वह असंतुलित होकर गिर गए।

अस्पताल में भर्ती कराकर भागा संचालक

अंगुली के अलावा उसका बायां पैर बुरी तरह से चोटिल हो गया। उसको तुरंत नर्मदा अस्पताल (Narmada Hospital) में भर्ती कराया गया। अस्पताल में सुरभि सिक्योरिटी सर्विस के संचालक अरूण शर्मा (Arun Sharma) भी पहुंचे थे। उन्होंने अश्विनी मिश्रा से कहा था कि वह इलाज का खर्च के अलावा वेतन का भी भुगतान करेंगे। उसको 8 सितंबर को अस्पताल से डिस्चार्ज किया गया। लेकिन, उसके इलाज का भुगतान नहीं हुआ। वहीं पैर में राॅड डालने के कारण डाॅक्टरों ने छह महीने दूसरे किसी काम में न जाने की सलाह दी है। अब अरूण शर्मा अपने वादे से मुकर गया। जिसके बाद पीड़ित ने थाने में 15 सितंबर को आवेदन दिया था। मामले (Bhopal News) की जांच एसआई आरपी यादव (SI RP Yadav) ने की है। जिसमें पता चला है कि जेसीबी जब लौहे का जाॅब उठा रही थी उस वक्त ठेकेदार मसादुल हक (Masadul Haq) ने सुरक्षा के इंतजाम नहीं किए थे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: दुल्हन बनाने का सौदा, उजागर हुआ गैंगेरप का राज
Don`t copy text!